बैजनाथ मंदिर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बैजनाथ मंदिर
Shiva temple baijnath HP.jpg
बैजनाथ मंदिर
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिन्दू (शैव संप्रदाय)
डिस्ट्रिक्टकाँगड़ा जिला
देवतावैद्यनाथ के रूप में भगवान शिव
त्यौहारमहाशिवरात्रि, मकर संक्रान्ति, बैसाख
अवस्थिति जानकारी
राज्यहिमाचल प्रदेश
देशभारत
भौगोलिक निर्देशांक32°02′N 76°25′E / 32.03°N 76.41°E / 32.03; 76.41निर्देशांक: 32°02′N 76°25′E / 32.03°N 76.41°E / 32.03; 76.41
वास्तु विवरण
निर्माताअहुका और मन्युका

बैजनाथ मंदिर बैजनाथ में स्थित नागर शैली में बना हिंदू मंदिर है। यह 1204 ईस्वी में अहुका और मन्युका नामक दो स्थानीय व्यापारियों ने बनवाया था। यह वैद्यनाथ (चिकित्सकों के प्रभु) के रूप में भगवान शिव को समर्पित है।[1]  शिलालेखों के अनुसार वर्तमान बैजनाथ मंदिर के निर्माण से पूर्व भगवान शिव के मंदिर का अस्तित्व था। मंदिर के गर्भगृह में शिवलिंग है। बाहरी दीवारों पर अनेकों चित्रों की नक्काशी हुई है। [2]

पुरातत्व[संपादित करें]

मंदिर के मुख्य कक्ष में शिला-फलक चट्टान पर नक्काशित दो लंबे शिलालेख हैं। ये शिलालेख शारदा लिपि में संस्कृत और ताकरी लिपि में स्थानीय बोली पहाड़ी का उपयोग करके लिखे गए हैं। ये शिलालेख भारतीय राष्ट्रीय पंचांग (शक संवत) वर्ष 1126 (यानी 1204 ईस्वी) में अहुका और मन्युका नामक दो मंदिर निर्माता व्यापारियों का विवरण देते हैं, इसके अलावा इसमें भगवान शिव की प्रशंसा, मंदिर निर्माण के समय के शासक राजा जय चन्द्र का नाम, वास्तुकारों के नामों की सूची और दाता व्यापारियों के नाम भी शामिल हैं। अन्य शिलालेख में कांगड़ा जिले के पुराना नाम - नगरकोट का उल्लेख है।[3]

प्रतिमाएँ[संपादित करें]

मंदिर की दीवारों पर कई प्रतिमाएँ बनाई गई हैं। इनमें से कुछ मुर्तियाँ एवं प्रतिमाएं वर्तमान मंदिर से पहले बनी हुई हैं। मंदिर में यह मुर्तियाँ एवं प्रतिमाएँ हैं: भगवान गणेश, भगवान हरिहर (आधा भगवान विष्णु और आधा भगवान शिव), कल्याणसुन्दर (भगवान शिव और देवी पार्वती की शादी) और भगवान शिव द्वारा असुर अन्धक की हार।[4]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Kumud, Mohan (27 August 2001). "Cradling beauty". Business Line. मूल से 6 June 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 6 January 2017. |accessdate= और |access-date= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  2. "baijnath". मूल से 14 दिसंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 अप्रैल 2018.
  3. "archaeology of temple". मूल से 14 दिसंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 अप्रैल 2018.
  4. "sculpture". मूल से 14 दिसंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 अप्रैल 2018.