बेसाल्ट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बेसाल्ट चट्टान का एक नमूना

बेसाल्ट या बसाल्ट (अंग्रेज़ी: Basalt) एक प्रकार की बहिर्भेदी (ज्वालामुखीय) आग्नेय चट्टान है। इसका निर्माण बेसाल्टी लावा के धरातल पर आकार तेजी से जमने की वजह से होता है और इसी कारण यह कणविहीन या गैर-रवेदार रूप में पायी जाती है।[1]

ये अच्छी तरह से संरक्षित बेसाल्ट कॉलम "पत्थरों की सिम्फनी" के रूप में जाने जाते हैं और वे अर्मेनिया की राजधानी शहर येरेवन के पास, गार्नी गॉर्ज में स्थित हैं। कॉलम दिखाई दे रहे हैं क्योंकि उन्हें गोगित नदी द्वारा तैयार किया गया था।

" मुख्यत: बेसाल्ट तरल लावा के ठण्डे होने से बनते हैं। जो लावा उद्गार के समय बहुत तरल होते हैं। "

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. आग्नेय चट्टानें Archived 2014-10-28 at the Wayback Machine, सामान्य ज्ञान मंजूषा, गूगल पुस्तक

यह आग्नेय प्रकार की चट्टानें है ।