बेलिवेर महल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बेलिवेर महल [1] (कैटलान: Castell de Bellver) एक गथिक शैली में निर्मित महल है जो कि पश्चिमोत्तर पाल्मा से 3 कि०मी० की दूरि के एक छोटी पहाड़ी पर है। यह पहाड़ी मायोर्का नाम के द्वीप पर है, जो कि स्पेन के बेलिएरिक द्वीपों के समूह में से एक द्वीप है। यह मायोर्का के शासक जेम्स द्वितीय ने चौदहवी सदी में बनाया था। यह यूरोप में गिने-चुने परिपत्र महलों में से है।[2] अठारहवीं सदी से लेकर बीसवीं सदी के मध्य तक के उसे सैन्य कारागार के रूप में उप्योग किया गया। अब यह महल असैनिक नियंत्रण में है। यह महल इस द्वीप के पर्यटन आकर्षणों में मुख्य है और शहर के इतिहास संग्रहालय केन्द्र का स्थान है।[3]

महल का निर्माण[संपादित करें]

महल की योजना और इसके साथ-साथ इससे से जुड़े गोलाईदार टावरों के बारे में एक प्रचलित अनुमान जिसकी अकसर शिक्षाविद चर्चा करते हैं वह यह है कि ऊपरी परिसर पश्चिमी तट के हेरिडिऑन से प्रभावित होकर बनाया गया है क्योंकि वह भी उसी प्रकार से गोलाईदार, उसका भी एक मुख्य केन्द्रित लम्बा टावर है और तीन छोटे-छोटे टावर इसके अतिरिक्त दोनों ही स्थानों समान रूप से पाए जाते हैं। यह तीन छोटे-छोटे टावर मुख्य टावर से लगे हुए हैं और मुख्य टावर एक पुल से जुड़ा है जो कि आसपास के इलाक़े को घेरे हुए है।

इस क़िलाबंदी के मुख्य भाग का निर्माण पेरे सेल्वा नाम के उस समय के प्रसिद्ध आर्किटेक्ट ने किया था। पेरे सेल्वा के ला अलमुदैना के राज महल के निर्माण में भी उल्लेखनीय भूमिका निभाई थी। यह कार्य उसने सैंकड़ों मज़दूरों की सहायता से 1300 और 1311 के बीच उसने शासक जेम्स द्वितीय और मयोर्का के लिए किया था। निर्माण के लिए उसी पहाड़ी ही से बड़ा पत्थर लिया गया था जिससे एक दराड़ पड़ गई थी। महल के निर्माण के साथ ही हथियार, गोला-बारूद जो कि बालकनी में रखा जाता था। समय के बादलाव के साथ-साथ इस जगह हथियारों के भंडार के रूप में इस्तेमाल समाप्त गया जबकि इसके कुछ निशान पीछे छुट गए।

बेलिवेर महल का इतिहास[संपादित करें]

बेलिवेर महल का एक दरमियानी हिस्सा

यह महल मुख्य रूप से मयोर्का के राजाओं के निवास स्थान के तौर कार्य दे रहा था जब भी वे मध्य यूरोप में रहने नहीं रह रहे थे। इसके पश्चात के दौर में शायद ही कभी किसी के निवास के रूप में 17 वीं सदी तक प्रयोग में लाया गया जबकि कभी-कभार वायसराय के निवास लिए इस्तेमाल किया गया था। इस परिसर को एक युद्ध-दुर्ग के तौर पर नुकसान उठाना पड़ा है और सफलतापूर्वक मध्य युग के दौरान दो घेराव से जूज चुका है; उनमें से पहला 1343 में मयोर्का के पीटर चौथे का मयोर्का प्रदेशों को आरागॉन के मुकुट को पुनः सम्मिलित करने का अभियान और फिर पुन: 1391 एक यहूदी-विरोधी सामी विद्रोह शामिल हैं। महल केवल एक बार इसके इतिहास में दुश्मन हाथों में 1521 में मयोर्का के भ्राता विद्रोह के दौरान पराजित किया गया था।

महल को आमतौर से एक लॉर्ड वार्डन द्वारा संचालित किया गया था। 1408 में आरागॉन के राजा मार्टिन प्रथम ने बेलिवेर की आधिपत्य को यीशु के नासरत-वाले चार्टरहाउस को वालिदेमोस्सा में दिया था। अंततः राजा ने आधिपत्य या बेलिवेर महल नहीं दिया।

एक संलग्न जगह होने के कारण 14 वीं सदी के अंत के बाद से यह एक जेल के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। सबसे पहले रानी मयोर्का वयोलान्त, उनके बच्चे जेम्स और इसाबेला और इनके साथ-साथ मयोर्का के जेम्स तृतीय को 1349 में ल्यूत्सम्योर (Llucmajor) की युद्ध में उनकी मृत्यु के पश्चात उनके समर्थकों को रखा गया था। स्पेन के उत्तराधिकार की युद्ध (War of Spanish Succession) के दौरान इस विशाल महल को फिलिप द आन्यु (Phillippe d'Anjou) के समर्थकों को रखने के लिए इस्तेमाल किया गया था। बूरबॉन (Bourbon) विजय यहाँ मौलेतों (Maulets) (हब्सबर्ग धोखेबाज के समर्थकों के) को क़ैद करने के लिए इस्तेमाल किया गया था। स्पेनी आजादी के युद्ध के दौरान इसे पकड़े गए कई कैदियों रखने के लिए इस्तेमाल लिया गया। बैलेन (Bailén) लड़ाई में राजनीतिक कैदियों को यहाँ रखा गया। बाद के दौर में यहाँ प्रमुख क़ैदियों में मंत्री गॅस्पर मेलचोर दे जोवेल्लानोस (Gaspar Melchor de Jovellanos) (1802–1808) थे जिन्होंने पहली बार महल का वर्णन किया और पहली ब्लूप्रिंट के चित्र तय्यार किए थे। महल पर फिर से एक राजनीतिक जेल के और पर 19 वीं सदी के दौरान, स्पेनी सिंहासन के लिए संघर्ष के कारण हब्सबर्ग धोखेबाज़ (Habsburg pretendants) के कई महत्वपूर्ण समर्थकों को अवरोधित करने के लिए इस्तेमाल किया था। 20 वीं सदी के दौरान कैटलानी नेताओं यहाँ रखा गया था जिनमें एलेक्जेंडर जौमे (Alexandre Jaume), संसद सदस्य जिङोंने महल को शहर के लिए पहली बार जीता था, और एमिली दारदेर (Emili Darder), जो शहर के मेयर थे, दोनों को बाद में जला दिया गया।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

परिपत्र अन्दर का भाग

सुविधाएँ[संपादित करें]

मलोरका के जेम्स द्वितीय के शाही अदालत के लिए मुख्य उद्देश्य से बनाए जाने के कारण, इसकी संरचना रक्षात्मक तत्वों के साथ एक महल की जरूरतों को जोड़ती है। इसकी संरचना में सबसे उल्लेखनीय विशेषता स्पेन में अद्वितीय इसका गोल आकार है। इसके आसपास की दीवार और भीतरी खुली जगह दोनों ही एक समान आकार रखते हैं और इसलिए तीन छोटे टावरों और प्रमुख बुर्ज यहाँ घेरे हुए हैं। एक खाई महल और उसके प्रमुख बुर्ज आसपास के पाई जाती है।

परिपत्र भीतरी खुली जगह पर प्रकाश डाला जाना चाहिए। इसके नीचे एक तालाब है जो इंगित करता है उसके नीचे एक पान्महल ही केंद्र की खुली जगह के आसपास एक दो मंजिला इमारत के रूप में संरचित है। सभी अपनी निर्भरता गोथिक अर्द्ध परिपत्र मेहराब की एक गैलरी के माध्यम से इस खुली जगह के आगे घेरे हुए है।

वर्तमान उपयोग[संपादित करें]

1931 में, स्पेन की द्वीतीय गणराज्य ने बेलिवेर महल और आसपास के जंगल को पाल्मा के शहर को प्रदान किया। 1932 में यह एक संग्रहालय बन गया। यह शहर के इतिहास का संग्रहालय बनने के लिए 1976 में नए प्रयास किए थे, जिन्हें काफ़ी नागरिक समर्थन प्राप्त हुआ था। महल से लगकर निर्मित पार्किंग स्थल और सड़क के लाभ के कारण वर्तमान समय में यहाँ आगंतुकों की एक बड़ी संख्या देखी जा सकती है। मुख्य खुले स्थल पर कई सार्वजनिक समारोह जैसे प्रोटोकॉल्लारी (protocollary) और सांस्कृतिक कार्य और संगीत के रूप में कई अलग अलग आयामों की जगह बन चुकी है। समुद्र या शहर के किसी भी अन्य बिंदु से दृश्यता के कारण यह एक शहर का प्रतीक बन गया है।

आसपास के जंगल शहर के घुड़सवार पुलिस के अस्तबल का काम देते हैं। यहाँ पर सेन्ट आलफ़ॉन्सस रोड्रिगेज के लिए समर्पित एक छोटा गिरजा घर है जिसका निर्माण 1879 और 1885 के बीच किया गया था।

ईस्टर रविवार के बाद के रविवार को इस जंगल और महल के पास नागरिकों की बैठक होती है जो द्यूमेंगे देल एनजल (Diumenge de l'Àngel) मनाते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]