बेअंत सिंह (मुख्यमंत्री)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सरदार
बेअंत सिंह

पद बहाल
1992–1995
पूर्वा धिकारी राष्ट्रपति शासन
उत्तरा धिकारी हरचरण सिंह बराड़

जन्म 19 फ़रवरी 1922
मृत्यु 31 अगस्त 1995(1995-08-31) (उम्र 73)
चंडीगढ़, पंजाब
राजनीतिक दल कांग्रेस
जीवन संगी जसवंत कौर (1925-2010)
शैक्षिक सम्बद्धता राजकीय महाविद्यालय, लाहौर
धर्म सिख

सरदार बेअंत सिंह (19 फ़रवरी 1922 - 31 अगस्त 1995) कांग्रेस के नेता और पंजाब के 1992 से 1995 तक मुख्यमंत्री थे। खालिस्तानी अलगाववादिओं ने कार को बम से उड़ा कर उनकी हत्या कर दी थी।[1] भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के शब्दों में पंजाब के मुख्‍यमंत्री के रूप में सरदार बेअंत सिंह ने राज्‍य में सामान्‍य स्थिति बहाली के लिए कड़े संघर्ष किए। 18 दिसम्बर 2013 को डाक विभाग ने सरदार बेअंत सिंह जी के सम्‍मान में एक डाक टिकट जारी किया है।[2]

जीवनी[संपादित करें]

सरदार बेअंत सिंह ने 23 वर्ष की आयु में सेना की नौकरी छोड़ दी थी। उन्होंने कई महत्‍वपूर्ण पदों पर रहकर समाज की सेवा की। 1992 में वह पंजाब के मुख्‍यमंत्री बनें। अपने जीवन काल में वे पाँच बार पंजाब विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए और पंजाब सरकार में मंत्री भी रहे। पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष के रूप में भी उन्होंने 1986 से 1995 कार्य किया था।

सन्दर्भ[संपादित करें]