बृहस्पति देव त्रिगुण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बृहस्पति देव त्रिगुण
जन्म 1920
भारत
मृत्यु 2013

बृहस्पति देव त्रिगुण (1920 - 2013) एक वैद्य अथवा आयुर्वेदिक चिकित्सक थे। वो पल्स निदान के विशेषज्ञ और पल्स निदान के आयुर्वेदिक तकनिज्ञ थे।

उन्हें १९९२ में पद्म भूषण और २००३ में भारत सरकार का द्वितीय सर्वश्रेष्ठ नागरीक सम्मान पद्म विभूषण मिला।

जीवनवृत्ति[संपादित करें]

त्रिगुण अखिल-भारतीय आयुर्वेदिक कांग्रेस के अध्यक्ष[1] और आयुर्वेद शोध के लिए केन्द्रिय परिषद के निदेशक तथा आयुर्वेद राष्ट्रीय अकादमी के अध्यक्ष सहित विभिन्न सरकारी पदों पर नियुक्त हुये। वो भारत के राष्ट्रपति के निजी चिकित्सक भी रहे।[2] उन्होंने आयुर्वेदिक दवाओं के मानकीकरण तथा भारत के आयुर्वेदिक चिकित्सा महाविद्यालयों के प्रमाणीकरण के क्षेत्र में भी कार्य किया।

त्रिगुण ने महाऋषि आयुर्वेद के विकास के लिए महर्षि महेश योगी और अन्य आयुर्वेदिक विशेषज्ञों के साथ सहयोग किया।[3] उनकी प्राथमिक शिक्षा दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन के पास सराय काले खान में अभ्यास किया। उन्होंने विश्व के विभिन्न हिस्सों में यात्राएँ की और यूरोप में उन्होंने अपने आयुर्वेदिक क्लिनिक खोले।[4] उनकी अमेरिका यात्रा में चिकित्सा संस्थानों जैसे यूसीएलए, हार्वर्ड और जॉन्स हॉप्किन्स में आयुर्वेद पर संभाषण किया।[5]

सन् २००३ में त्रिगुण को भारत सरकार ने द्वितीय सर्वोच्य नागरीक सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया।[6]

वैद्य बृहस्पति देव त्रिगुण का १ जनवरी २०१३ को सराय काले खान, निजामुद्दीन, नई दिल्ली स्थित उनके घर पर निधन हो गया।[7][8] उनके पुत्र नरेन्द्र त्रिगुण और वैद्य देवेन्द्र त्रिगुण उसी स्थान पर उनके कार्य को आगे बढ़ा रहे हैं।[9]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Chopra meets wise healer in India". सिकागो सन-टाइम्स. ३१ जनवरी १९८८.
  2. "The Magic of Maharishi Ayurveda" Archived 14 मार्च 2012 at the वेबैक मशीन. Maharishi Ayurveda Products International web site
  3. "The Maharishi Ayurveda Story" Archived 8 फ़रवरी 2014 at the वेबैक मशीन. Maharishi Ayurveda Products International web site
  4. Ayurveda - Ayurveda - Medicine and treatment in India Archived 6 अप्रैल 2009 at the वेबैक मशीन. by Parveen Chopra, Lifepostive magazine
  5. क्रियर, बेथ एन्न (३ जून १९८६). "Pulse as a Window on the State of Your Health". लॉस एंजिल्स टाइम्स. मूल से 13 अप्रैल 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 9 अप्रैल 2014.
  6. "Sonal Mansingh, others receive Padma awards". द हिन्दू (अंग्रेज़ी में). ४ अप्रैल २००३. मूल से 11 जुलाई 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ९ अप्रैल २०१४.
  7. "Famous and beloved Vaidya Dr. Triguna Maharishi Mahesh died" [प्रसिद्ध और माशूक वैद्य डॉ॰ त्रिगुण महाऋषि महेश का निधन] (अंग्रेज़ी में). आयुर्वेदिक पोर्टल. मूल से 13 अप्रैल 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ८ अप्रैल २०१४.
  8. "व्रैद्य बृहस्पति देव त्रिगुणा का निधन". समय लाइव. १ जनवरी २०१३. मूल से 13 अप्रैल 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ८ अप्रैल २०१४.
  9. "A Tribute to Rajvaidya Brihaspati Dev Triguna-ji" [राजवैद्य बृहस्पति देव त्रिगुण जी को एक श्रद्धांजलि]. Maharishi's Global Family Chat. मूल से 5 दिसंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ८ अप्रैल २०१४.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]