बीसलपुर गाँव, खैरागढ़ (आगरा)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बीसलपुर
—  गाँव  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य उत्तर प्रदेश
ज़िला आगरा
जनसंख्या 4,001
लिंगानुपात 960/1000 /
आधिकारिक भाषा(एँ) हिन्दी, खड़ी बोली हिन्दी, अंग्रेज़ी
आधिकारिक जालस्थल: http://agra.nic.in

निर्देशांक: 27°11′N 78°01′E / 27.18°N 78.02°E / 27.18; 78.02

बीसलपुर खैरागढ़, आगरा, उत्तर प्रदेश स्थित एक गाँव है।बीसलपुर एक नजर: यह ग्राम उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा जिले के दक्षिण में तकरीबन बाइस किलोमीटर दूर बसा हुआ ग्राम है, इस ग्राम में रोज़गार का मुख्य साधन संगमरमर के खिलौने और सेना में सेवा देना है । ज्यादातर आबादी रावत गोत्र जाटो की है ।ग्रामीणो का मुख्य व्यवसाय खेती है। गांव में दो सरकारी स्कूलों के साथ वीरेन्द्र वर्तमान प्रधान का एक प्राइवेट स्कूल व टेक्निकल स्कूल है। गांव में खरीददारी करने के लिए राजवीर सिंह नेता जी का एक राज एंड संस नामक शोरूम है जहाँ कपड़े व जूते चप्पल आदि उचित मूल्य पर मिलते हैं। गांव के पास एक खारी नदी है । मीठे पानी की गांव में कमी है। गाँव मे पानी की सुविधा सरकारी नलकूप से मुहैया कराई जाती है । खारी नदी के पास एक भोले बाबा का मंदिर व दो अन्य मन्दिर जो गांव में स्थित हैं ,देवी माता और ठाकुर जी का मंदिर है । गाँव मे मुस्लिम समुदाय की एक मस्जिद भी है। हर वर्ष महाशिवरात्रि के पावन मौके पर क्षेत्र का विशाल मेला लगता है । 200 कावड़ बीसलपुर से आती है । तकरीबन इतनी ही दूसरे गाँव पिनानी, रामनगर, मुरखिया व नगला कारे गढ़ी कालिया बेरी चाहर आदि प्रमुख गावों से आती हैं।

भूगोल[संपादित करें]


== जनसांख्यिकी == कुल जनसंख्या 4000 के करीब है जिसमे वोटर संख्या 2800 है।

यातायात[संपादित करें]

यातायात के साधनों में यह गांव प्रधानमंत्री ग्राम सड़क के द्वारा आगरा जगनेर स्टेट हाइवे से जुड़ा हुआ है जिससे ४ किलोमीटर की दूरी पर यह गांव पड़ता है। इस गाँव के लिए उत्तर प्रदेश रोडवेज की बस सेवा जो आगरा अलीगढ़ और दिल्ली के लिए जाती है , सुबह 8 बजे पहुँचती है जिससे ग्रामवासियों को इन शहरों में आने जाने में सहूलियत मिलती है। आगरा छावनी नजदीकी रेलवे स्टेशन से गाँव की दूरी 20 किलोमीटर है व खेरिया एयरपोर्ट जो 15 किलोमीटर की दूरी पर है।

आदर्श स्थल[संपादित करें]

गांव के रोजगार के मामले में अगर बात की जाए तो आधे से ज्यादा गांव सैन्य सेवा में लगा हुआ है और सब की रोजगार का साधन बना हुआ है तो कह सकते हैं कि बीसलपुर गांव फौजियों की संख्या में सबसे आगे है

शिक्षा[संपादित करें]

बीसलपुर गांव शिक्षा के मामले में आसपास के इलाकों की तुलना में सर्वप्रथम चल रहा है और गांव में दो सरकारी स्कूल के साथ प्राइवेट विद्यालय भी है जो कक्षा 12 तक तक शिक्षा प्रदान करते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]