बीना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

भौगोलिक स्थिति[संपादित करें]

बीना सागर जिला की एक तहसील और विधानसभा क्षेत्र है। यह पश्चिम मध्य रेल्वे का बड़ा जंक्शन है। इस क्षेत्र से दो प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक ३ एवं क्रमांक २६ गुजरते है। यह इलाका मुख्यत: मध्‍यप्रदेश के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में स्थित मालवा के पठार पर स्थित है। इसके भौतिक स्वरूप की विशेषता धसान, बेबस, सुनार, कोपरा और बामनेर नदियों की पांच समानांतर घाटियां है। यह समुद्र तल से ६८३.४ मीटर की ऊचाई पर स्थित है। यह क्षेत्र गंगा-यमुना के जलग्रहण क्षेत्र में स्थित है। मुख्यत: गेहूं, धान, ज्वार, मक्का, चना, तुअर, सोयाबीन एवं तिल का उत्पादन होता है। अन्य फसले सब्जियां फल आदि की भी पैदावार होती है।

बीना तेल रिफायनरी[संपादित करें]

बीना के निकट आगासौद में भारत ओमान तेल रिफायनरी की स्थापना के अतिरिक्त बिजली उत्पादन केंद्र बनाए जा रहे है। रिफायनरी के लिए कच्चा तेल गुजरात से प्राप्त होगा। उद्योगों के उप उत्पादों से अन्य सहयोगी अनुशंसी उद्योगों को कच्चा माल उपलब्ध होगा जिससे रोजगार के अवसर बनेंगे और इस इलाके का आर्थिक एवं सामाजिक विकास होगा।

मध्यप्रदेश नगर तथा ग्राम निवेश अधिनियम 1973 की धारा 4 के अंतर्गत मध्यप्रदेश शासन के आवास एवं पर्यावरण विभाग की अधिसूचना क्रमांक एफ-3/32 दिनांक 13 मई 1999 से तीन जिले (सागर, विदिशा, गुना) को मिलाकर बीना पेट्रोकेमिकल औद्योगिक रीजन घोषित किया गया है। पेट्रोलियम रिफायनरी की स्थापना का उद्देश्य इस क्षेत्र के आस-पास के क्षेत्रों में आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, भौतिक एवं पर्यावरणीय विकास में संरक्षित समन्वय स्थापित करना, क्षेत्रीय असंतुलन, पिछड़ापन, बेरोजगारी दूर करना एवं पलायन को रोकना है। इसके साथ ही साथ ऊर्जा, यातायात एवं परिवहन, आर्थिक एवं सामाजिक सेक्टर में उच्च स्तरीय अधोसंरचनाओं को विकसित करना है।[1]

बाह्य कडियां[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]