बीजिंग इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान कोलाइडर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
यह बीजिंग इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान कोलाइडर की अंदरूनी तस्वीर है।

बीजिंग इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान कोलाइडर (अंग्रेज़ी: Beijing Electron Positron Collider, संक्षिप्त:BEPC) एक इलेक्ट्रॉन-पोजीट्रान संघट्ट है, एक प्रकार का कण त्वरक जो चीन में स्थित है। इसकी स्थापना चीन में १९८४ में की गई। २००४ से २००९ तक इसके द्वितीय संस्करण (BEPC-II) का निर्माण किया गया। यह मुख्य रूप से उच्च ऊर्जा भौतिकी के शोध कार्य के लिए प्रयोग किया जाता है जिसमें विकिरण की समकालिकता का अध्ययन किया जाता है। अन्तरराष्ट्रीय संघट्ट प्रयोगों की तुलना में इसके कणों का मध्यम उर्जा मान नाभिकीय भौतिकी प्रयोगों में भी उपयोगी है। यह प्रयोग अपने उन्नत स्तर के ऊर्जा क्षेत्र के लिए भौतिकी में अन्तरराष्ट्रीय आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है।

निर्माण और संचालन[संपादित करें]

१९७२ में चीनी विज्ञान अकादमी की स्थापना पर उच्च ऊर्जा भौतिकी के क्षेत्र में शोध को बढ़ावा देने के लिए एक उच्च ऊर्जा त्वरक के निर्माण का अनुमोदन किया गया। लेकिन किसी कारणवश यह कार्य बंद कर दिया गया।[1]

१९८३ में राज्य परिषद की मंजूरी के पश्चात एक 2 × 2.2GeV इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान संघट्ट का निर्माण करने की अनुमति मिल गयी जिसका नाम बीजिंग इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान कोलाइडर रखा गया।[2][3]

नवीकरण परियोजना[संपादित करें]

१९९९ में इसकी प्रथम नविनीकरण योजना आरम्भ की गयी जो २००४ से २००९ तक काम में लिया गया। २००९ से इसके पुनः नवीकरण का कार्य किया जा रहा है जिसे BEPC-III कहा जा रहा है। इस नव परिवर्तन के पश्चात बीजिंग इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान कोलाइडर, विश्व के उन्नत संघट्ट प्रयोगों में से एक होगा।[4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. शेंग चेन पेंग ज़िलोंग (2008). "बीजिंग इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान कोलाइडर". चीनी विज्ञान अकादमी (चीनी में).
  2. "बीजिंग इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान कोलाइडर प्रेक्षण". चीनी विज्ञान अकादमी (चीनी में).
  3. "बीजिंग इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान कोलाइडर". चीनी विज्ञान अकादमी (चीनी में).
  4. "बीजिंग इलेक्ट्रॉन पोजीट्रान कोलाइडर अपग्रेड" (चीनी में). 2009-7-18. अभिगमन तिथि 19 जून 2013. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)