बिहटा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बिहटा
—  अर्द्ध शहरी क्षेत्र  —
निर्देशांक: (निर्देशांक ढूँढें)
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य बिहार
ज़िला पटना
आधिकारिक भाषा(एँ) हिन्दी,उर्दू, मैथिली,मगही
आधिकारिक जालस्थल: gov.bih.nic.in/


बिहटा में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत दानापुर अणुमंडल के पटना जिले का एक छोटा शहर है, इसे ग्रेटर पटना या न्यू पटना भी कहते हैं।[1] बिहटा मनेर (विधानसभा क्षेत्र) और पाटलिपुत्र लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र का हिस्सा है। यह पटना के 35 किमी दक्षिण-पश्चिम में स्थित है।[2]

भगौलिक स्थिति[संपादित करें]

पटना जिले के पश्चिमी किनारे पर सोन नदी के पूरब ५ किलोमीटर, मनेर शरीफ के दक्षिण १० किलोमीटर, बिक्रम से उत्तर १५ किलोमीटर तथा सदीसोपुर से पश्चिम ५ किलोमीटर, राष्ट्रीय उच्च्पथ संख्या ३० तथा सजकीय उच्च्पथ संख्या २ पर हावड़ा दिल्ली मुख्य लाइन पर बिहटा रेलवे स्टेशन अवस्थित है। बिहटा के डुमरी में 220/132/33 केवी पावर ग्रिड सबस्टेशन (उपकेंद्र) है,[3] जहां अप्रैल 2019 में संचालन शुरू हुआ।[4][5]

लगभग 2,000 करोड़ रुपये की लागत से 20 किलोमीटर लंबी चार-लेन दानापुर-शिवाला-बिहटा एलिवेटेड रोड का निर्माण किया जा रहा है।[6] यह राजमार्ग 2022 तक पूरा हो जाएगा और पटना से दानापुर रेलवे स्टेशन और शिवाला चौक के माध्यम से आगामी सिविल एयरपोर्ट से जुड़ जाएगा। कुल 20 किमी लंबाई में से, 17 किमी ऊंचा होगा। ऊंचा हिस्सा कन्हौली गांव के पास बिहटा-सरमेरा रोड के जंक्शन पर समाप्त हो जाएगा। उस जंक्शन से सड़क बिहटा हवाई अड्डे को जोड़ने के अलावा बिहटा चौक तक जाएगी; इसे फिर से बिहटा चौक पर बढ़ाया जाएगा।

इतिहास[संपादित करें]

बिहटा का इतिहास बहुत ही गौरव शैली रहा है, स्वतंत्रता आंदोलन में श्री चन्द्रिका सिंह, श्री गंगा शरण सिंह जैसे लोगों का अमूल्य योगदान रहा है। यहाँ के चीनी मिल का चीनी कभी पूरे देश में प्रसिद्द हुआ करता था, और ये आस पास के किसानों के लिए नगदी फसल गन्ना का बहुत बड़ा बाजार हुआ करता था, लेकिन सरकारी उदासीनता के कारण १९९० के आसपास चीनी मिल को बंद करना परा और इस छेत्र से गन्ने की खेती लगभग विलुप्तप्राय हो गया है। पिछले २ दसक से यहाँ के किसान चीनी मिल के फिरसे चालू होने की आशा में थे लेकिन पिछले साल बिहार सरकार द्वारा चीनी मिल के पुराने भवन को तौर के उस ज़मीन एक शुष्क बंदरगाह का निर्माण कराया गया है जिसके कारण अब किसानों की आशा भी समाप्त हो गई है।

अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट[संपादित करें]

बिहटा एयरफोर्स स्टेशन

जैसे ही हवाई यातायात बढ़ता है और छोटे रनवे मुद्दे होते हैं पटना हवाई अड्डे, जिन्हें लोकनायक जयप्रकाश विमानक्षेत्र के नाम से भी जाना जाता है, केंद्र सरकार ने बिहार के राजधानी शहर बिहटा के बाहर सुविधा को स्थानांतरित करने पर विचार किया। सरकार ने इसके लिए 126 एकड़ जमीन भी चिह्नित कर ली है।[7][8] सगुना मोड़ से बिहटा तक 21 किमी तक एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा।[9] बिहटा एयरफोर्स स्टेशन का रनवे केवल 2700 मीटर है जो फाइटर प्लेन की जरूरत को तो पूरा कर सकता है, लेकिन बड़े पैसेंजर या कार्गों प्लेन की जरूरत को नहीं। जब तक बिहटा एयरपोर्ट के रनवे काे बढ़ा कर 4000 मीटर या उससे अधिक नहीं किया जाता उस पर जंबो जेट नहीं उतारे जा सकेंगे।[10]

बिहटा एयरबेस में मौजूदा रनवे की लंबाई 9, 000 फीट थी।[11] कुल 126.41 एकड़ जमीन में से 108 एकड़ एयरपोर्ट अथॉरिटी को दी जाएगी और 18 एकड़ जमीन का उपयोग स्टेट हैंगर आदि के लिए राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा।[12][13] पहले फेज में 25 लाख क्षमता वाली टर्मिनल बिल्डिंग का निर्माण होगा।[14] इसके बाद एयर ट्रैफिक बढ़ने पर टर्मिनल बिल्डिंग का विस्तार किया जाएगा। इसका रनवे कैटेगरी-2 का होगा। बिहटा एयरपोर्ट रनवे की लंबाई वर्तमान में 8200 फीट है। एयरपोर्ट अथॉरिटी ने राज्य सरकार को 156 एकड़ जमीन का प्रस्ताव दिया था, ताकि रनवे की लंबाई बढ़ा कर 12000 फीट किया जा सके। बोइंग 747 जैसे विमानों के उतरने के लिए 12000 फीट लंबा रनवे चाहिए।[15] पटना एयरपोर्ट पर 2072 मीटर लंबा रनवे है। आदर्श रूप में एयरबस 320 और बोईंग 737 जैसे विमानों के लिए 3300 मीटर की हवाई पट्टी चाहिए।

1400 करोड़ रुपये के व्यय पर प्रस्तावित बिहटा एयरबेस और दानापुर रेलवे स्टेशन के बीच 18.5 किमी चार-लेन अर्ध-ऊंचा सड़क का निर्माण किया जा रहा है।[16] भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) बिहटा से शिवला तक 13.5 किमी ऊंची चार लेन वाली सड़क का निर्माण करेगा, जबकि शिवला से दानापुर स्टेशन तक शेष 5 किमी की दूरी बिहार आरसीडी द्वारा बनाई जाएगी।[17] दानापुर-शिवला-बिहटा रोड के अलावा, बिहटा दो और चार लेन वाली सड़कों - पटना-बक्सर एनएच -30 और बिहता-सरमेरा एसएच -78 से जुड़ी होगी।

शैक्षणिक संस्थान[संपादित करें]

आईआईटी पटना का परिसर 501 एकड़ (203 हेक्टेयर) साइट पर बिहटा ब्लॉक के अम्हारा और दिलवारपुर गांव के मानकों में स्थित है। बिहार सरकार ने बिहार के अम्हारा गांव में एनआईटी पटना को 100 एकड़ (40 हेक्टेयर) भूमि आवंटित कर दी थी।[18] केन्द्रीय विद्यालय है, लोकसभा सभापति मीरा कुमार ने एक कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में नींव रखी सितंबर 2009 बिहटा में । 500-बिस्तर ईएसआईसी अस्पताल और कॉलेज यहां 523 करोड़ में 25 एकड़ पर आ रहा है।[19] 7 जुलाई 2018 को ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का उद्घाटन किया गया।[20][21]

3 जून 2013 को केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने बिहटा में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (एनआईईएलआईटी) के स्थायी परिसर का आधारशिला रखा।

रियल एस्टेट बूम[संपादित करें]

पटना के 40 किमी पश्चिम में इस छोटे से शहर में भूमि की कीमत पिछले कुछ वर्षों में आसमान में उछल आई है इस क्षेत्र में कई परियोजनाओं के निर्माण के कारण भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना (आईआईटी), राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, पटना (एनआईटी), कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) अस्पताल और अन्य।[22] कुछ सालों में, बिहटा पटना के लिए होगी जो गुड़गांव नई दिल्ली में है। वर्तमान में, शहरी इलाके में ₹ 30 और ₹ 35 लाख के बीच एक कट्ठा (1,361 वर्गफुट) भूमि की कीमत है। यहां तक ​​कि अम्हारा, कंचनपुर या दिलवारपुर जैसे पास के गांवों में भी 1 कट्ठा जमीन की कीमत ₹ 15-20 लाख है। कुछ साल पहले, यह शहरी में ₹ 2-2.5 लाख और ग्रामीण क्षेत्रों में ₹ 25k-50k के लिए उपलब्ध था। पटना जिले के बिहटा में (राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल) एसडीआरएफ मुख्यालय और प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना के लिए 25 एकड़ जमीन अधिग्रहित की गई है।

रियल एस्टेट ने सेवानिवृत्त अर्धसैनिक बलों के परिवार के लिए कॉलोनी बनाने के लिए पहाड़पुर गांव के पास भूमि अधिग्रहण की। मुख्य रूप से सुरक्षा संलग्नक सदस्य निवासी के विकास के लिए भूमि अधिग्रहण कर रहे हैं। लॉजिस्टिक एंड इंडस्ट्रियल पार्क (एलआईपी) उस स्थान पर बिहता (पटना) में पूरी तरह कार्यात्मक है जहां चीनी मिल मौजूद थी। आईटी विभाग के अधिकारियों की अगुआई वाली एक टीम द्वारा कार्य प्रगति पर है। निर्माण कार्य मध्य -2013 तक शुरू होगा। यह स्वामी सहजनंद सरस्वती आश्रम के लिए भी लोकप्रिय है।

आईटी पार्क[संपादित करें]

बिहटा में 25 एकड़ में आईटी पार्क बनेगा।[23][24][25] अक्टूबर 2018 में, बिहार सरकार ने मेगा औद्योगिक पार्क के हिस्से के रूप में बिहटा में आईटी पार्क के लिए 33 एकड़ भूमि अधिग्रहण के लिए 38 करोड़ रुपये मंजूर किए।[26][27] शैक्षणिक, औद्योगिक के बाद अब रियल इस्टेट के क्षेत्र में हो रहे समावेशी विस्तार ने बिहटा प्रखंड की 26 पंचायतों की खूबसूरती बढ़ा दी है।[28]

प्रमुख स्थल :- बिहटा एयर फ़ोर्स स्टेशन, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना, बाबा बटेश्वर नाथ मंदिर,शुष्क बंदरगाह, स्वामी सहजनन्द सरस्वती आश्रम, श्री गजाधरचार्य जनता महाविद्यालय, ठाकुर प्रसाद उच्च विद्यालय आदि।

प्रमुख व्यक्ति :- श्री चन्द्रिका सिंह (स्वतंत्रता सेनानी) कंचनपुर, श्री गंगा शरण सिंह (स्वतंत्रता सेनानी) कंचनपुर, श्री रामनाथ शर्मा (स्वतंत्रता सेनानी) अमहरा

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "ग्रेटर नोएडा की तरह विकसित हो रहा बिहटा".
  2. "Four-lane boom for township". मूल से 18 अगस्त 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 अगस्त 2018.
  3. "GRIDS UNDER CONSTRUCTION" (PDF). मूल से 14 मई 2019 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 14 मई 2019.
  4. "बिहटा के डुमरी ग्रिड उपकेंद्र से हाेने लगी आपूर्ति, 24 घंटे मिलेगी बिजली". मूल से 3 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 मई 2019.
  5. "अधर में बिहटा ग्रिड, पटना की बिजली प्रभावित". मूल से 3 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 मई 2019.
  6. "Nitish approves alignment of Rs 2,000 crore Danapur-Bihta elevated road". मूल से 9 जून 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 4 जून 2019.
  7. "AAI to get airport land in 3 mths". मूल से 28 सितंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 जुलाई 2017.
  8. "Satellite airport project rolls DM interacts with land owners over compensation issues". मूल से 18 अगस्त 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 जुलाई 2017.
  9. "सगुना मोड़ से बिहटा तक 21 किमी तक होगा एक्सप्रेस-वे का निर्माण". मूल से 14 नवंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 जुलाई 2017.
  10. "रनवे नहीं बढ़ाया तो बिहटा एयरपोर्ट पर भी नहीं उतर पायेगा जंबो जेट". मूल से 14 नवंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 जुलाई 2017.
  11. "Pave way for runway expansion: Patna DM". मूल से 9 अक्तूबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 अगस्त 2018.
  12. "पटना एयरपोर्ट पर आज से विजिटर्स इंट्री बंद".
  13. "Civil enclave land wall work to begin next week". मूल से 16 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 21 जून 2018.
  14. "संग्रहीत प्रति". मूल से 14 नवंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 नवंबर 2017.
  15. "Bihar government unable to give more land for Bihta airbase runway". मूल से 9 अक्तूबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 अगस्त 2018.
  16. "4-lane Bihta-Shivala elevated road OK'd". मूल से 4 सितंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 अगस्त 2018.
  17. "Bihar awaits land for four-lane road". मूल से 7 अक्तूबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 अगस्त 2018.
  18. "New land at Bihta for NIT". मूल से 3 जून 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 जून 2019.
  19. "बिहटा ईएसआइसी हॉस्पिटल अगले माह से शुरू होगा इलाज, अभी 100 बेड की सुविधा". नामालूम प्राचल |ur;= की उपेक्षा की गयी (मदद); गायब अथवा खाली |url= (मदद)
  20. "Bihta ESIC hospital opens". मूल से 8 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 जुलाई 2018.
  21. "Minister opens ESIC hospital at Bihta". मूल से 4 अगस्त 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 जुलाई 2018.
  22. "Welcome to boomtown Bihta, Bihar's answer to Gurgaon". मूल से 2 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जुलाई 2018.
  23. "Bihar govt mulls incentives for IT companies". मूल से 2 सितंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 अगस्त 2017.
  24. "बिहटा में 25 एकड़ में बनेगा आईटी पार्क".
  25. "बिहटा में 25 एकड़ में आइटी पार्क का होगा निर्माण". मूल से 19 जून 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 जून 2017.
  26. "2% DA hike OK'd for employees, pensioners". मूल से 25 अक्तूबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 अक्तूबर 2018.
  27. "पटना : पांच सड़कों के लिए 2374 करोड़ की मंजूरी". मूल से 24 अक्तूबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 अक्तूबर 2018.
  28. "शैक्षणिक और औद्योगिक विकास के बाद बिहटा बना रियल इस्टेट का हब".

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]