बिसपोक (आदेश के मुताबिक)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बिसपोक (जिसका उच्चारण bih-spohk के रूप में होता है।) एक ब्रिटिश अंग्रेजी शब्द है, जिसका उपयोग बहुत सारे वैसे अनुप्रयोगों के लिए होता है, जिनका मतलब खरीदारों द्वारा दिए गए विशिष्ट निर्देशों के मुताबिक किसी वस्तु का निर्माण करना होता है। हालांकि अब इसका प्रयोग कंप्यूटर सॉफ्टवेयर से लेकर लक्जरी कारों तक कई वस्तुओं के लिए होता है, पर ऐतिहासिक रूप से यह केवल सिले गये कपडों, शर्ट्स और माप व फिटिंग वाले पुरुषों के अन्य परिधानों के लिए ही लागू होता था।

बिसपोक सिलाई के विशिष्ठ पहलू इस्तेमाल किये जाने वाले कपड़े, विशेषताएं तथा उपयुक्तता और परिधान के निर्माण के तरीकों पर ग्राहक का पूरा नियंत्रण हैं। और अधिक आम तौर पर, बिसपोक को वस्तु के उत्पादन में अनुकूलन के उच्च स्तर और उपयोगकर्ता की भागीदारी के रूप में वर्णित किया जा सकता है।

बिसपोक परिधान[संपादित करें]

शब्द का मतलब[संपादित करें]

एक बीस्पोक जैकेट का फिटिंग

बिसपोक शब्द क्रिया टू बिस्पीक (जता देना) से व्युत्पन्न है, जिसका मतलब है" किसी बात का संकेत देना" और विशेष अर्थ है "इसे बनाने के लिए आदेश देना".[1] फैशन में बिसपोक शब्द महिलाओं के ह्यूट कोचर (उच्च गुणवत्ता वाले फैशनेबल कपड़े)[2] शब्द के समानार्थी पुरुषों के व्यक्तिगत नमूनों और शिल्प वाले परिधानों के लिए आरक्षित है और यह सामूहिक रूप से निर्मित रेडी-टू-वीयर (जिसे ऑफ-द-पेग और ऑफ द रैक भी कहा जाता है) कपड़ों के विपरीत है। हालांकि यूनाइटेड किंगडम में बड़े पैमाने पर इस शब्द का प्रयोग होता है, पर संयुक्त राज्य अमेरिका में शायद ही कभी इसका इस अर्थ में प्रयोग किया जाता है, यद्यपि बड़े पैमाने वाले टेलरिंग व्यवसाय में कुछ लोगों द्वारा इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

बिसपोक कपड़े पारंपरिक रूप से ग्राहक के लिए चि‍ह्नित किये गये नमूने से अलग होते हैं और इसलिए ये रेडी-टू-वीयर (तैयार कपड़ों) से भिन्न हैं, जो तैयार स्थिति में और मानकीकृत आकारों के मुताबिक कारखानों में बने होते हैं और समायोजित ब्लॉक पैटर्न से प्राप्त आदेश पर उत्पा‍दित माप के आधार पर निर्मित होते हैं। इन संदर्भो के विरोध को शुरुआती तौर पर यह नहीं माना जा सकता कि बिसपोक कपड़े आवश्यक रूप से बेहतर तरीके से निर्मित हों, पर 20 वीं सदी[3] के प्रारंभ में रेडीमेड कपड़ों की शुरुआत के बाद से बिसपोक कपड़े और अधिक महंगे हो गये है और आम तौर पर इनका उच्च गुणवत्ता के साथ निर्माण होता है।[n 1]

जबकि ह्यूट कोचर द्वारा प्रदत्त विशिष्टता फ्रांस में विधि द्वारा सुरक्षित है,[n 2] ब्रिटिश एडवरटिजमेंट स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ने फैसला दिया कि बिसपोक शब्द का प्रयोग वैसे उत्पादों के लिए करना अच्छा है, जो पूरी तरह निर्माण के पारंपरिक तरीकों को शामिल नहीं करते.[4] पारंपरिक दर्जियों के व्यापार समूह सैविले बिसपोक एसोसियेशन ने इस नजरिये का विरोध किया है।[n 3][5]

बिसपोक बनाम नाप लेकर बनाया हुआ[संपादित करें]

19 वीं सदी के अंत तक बिसपोक और रेडीमेड कपड़ों के बीच सीमा रेखा बनी रही,[n 4] पर, "कपड़ों का एक अपरिभाषित क्षेत्र देखा गया, जिसमें ग्राहक की माप ली जाती थी, पर फैक्ट्री में हमेशा नहीं तो अक्सर, निकटतम मानक आकार के कपड़े बनाये जाते थे।"[6] यहां पर अंतर यह है कि बिसपोक कपड़े पहले से मौजूद नमूने और माप के मुताबिक बनते हैं, जो ग्राहक में फिट होने के लिए एक मानक पैटर्न आकार को बदल देते हैं।[7] तकनीकी परिवर्तन इस विभेद को अधिक सूक्ष्म बनाता है, क्योंकि "फिटिंग की जरूरत बिसपोक और माप के अनुसार निर्माण दोनों के लिए बढ़ती जा रही है; बिसपोक सेवा के लिए एक व्यक्तिगत कट पैटर्न की जरूरत पड़ सकती है, जो फिर आगे के लिए रखा जाता है और अब माप के अनुसार बने मापन को अक्सर कंप्यूटर में सुरक्षित रखा जाता है। यहां तक कि हाथ से किये गये काम को, अक्सर बिसपोक का निर्देश चिह्न माना जाता है, जो अब तेजी से माप के अनुसार बने वस्त्रों में पाया जाने लगा है, जबकि मशीन का उपयोग अधिकतर बिसपोक सूट बनाने के कुछ हिस्सों में होता है।"[5]

न्यूयॉर्क स्थित प्रसिद्ध डिजाइनर क्रेग रॉबिन्सन ने बिसपोक और माप के मुताबिक निर्माण को "परंपरा और व्यक्तित्व बनाम अनुरूपता और रिवाज" के रूप में परिभाषित किया है। [8][broken citation]

सैविल रो बिसपोक[संपादित करें]

द सैविल रो बिसपोक एसोसिएशन सैविल रो दर्जियों का एक समूह है, जिसने यह प्रयास किया कि अपने ट्रेडमार्क के उपयोग के लिए कपड़ों की न्यूनतम जरूरतों को उपलब्ध कराकर एक मानक निर्धारित किया जाये.

इन मानकों में विशेष रूप से इन पर बल दिया गया है :

  • "एक पेपर पैटर्न के व्यक्तिगत कटाव" सहित सभी कपड़ों पर लगभग पूरी तरह हाथ से काम का इस्तेमाल,;
  • व्यक्तिगत सेवा ; जैसे योग्य सलाह, कपड़े का एक बड़ा चयन, या भविष्य के आदेश के लिए सभी तरह के रिकॉर्ड रखना;
  • अनुमोदित प्रशिक्षण योजना में भागीदारी करने वाले घरों को शामिल करना। [9]

एसोसिएशन ने निर्दिष्ट बीस बिदुओं को तय किया है, जिनमें सूट के कुछ खास हिस्सों, जिनमें से प्रत्येक में कुछ विवरण हैं, जैसे पच्चीकारी की लंबाई कितनी होगी या किन हिस्सों की सिलाई हाथ से होनी चाहिए। [10]

अभी तक एसोसिएशन ने ह्यूट कोचर की तुलना में बिसपोक को एक संरक्षित लेबल के रूप में सफलतापूर्वक स्थापित नहीं किया है।

एडवरटिजमेंट स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी का फैसला[संपादित करें]

जून 2008 में, एक ब्रिटिश विज्ञापन नियामक एडवरटिजमेंट स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी (एएसए) ने फैसला सुनाया कि एक विज्ञापन, जिसमें सूट को "'एक वर्किंग फ्रेम' के अंदर रखकर मशीन द्वारा काटा और सिला जाता है"[11], उसे "आपके व्यक्तिगत मापन और विनिर्देश के अनुसार अनोखे रूप में बने बिसपोक सूट" के रूप में वर्णित किया जाता है।[11] यह प्राधिकरण के आत्म घोषित विज्ञापन कोड,[12] विशेष रूप से सत्यवादिता के नियम का उल्लंघन नहीं करता,[13] क्योंकि बिसपोक शब्द के प्रयोग से भ्रम पैदा होने की संभावना नहीं थी। यह निर्णय बिसपोक परिधानों की कम पारंपरिक परिभाषा तय करने में महत्वपूर्ण था, हालांकि माप के अनुसार निर्माण की पुरानी विशिष्टता को मान्यता मिली।

इस फैसले में ऑक्सफोर्ड इंग्लिश डिक्शनरी की बिसपोक की "आदेश के मुताबिक बना" परिभाषा को उद्धृत किया गया और कहा गया कि इस तथ्य के बावजूद कि बिसपोक सूट "पूरी तरह हाथ से बना है और एक रेखांकन के मुताबिक नमूना काटा गया है, साथ ही माध्यमिक स्तर पर इसकी ढीली सिलाई की गई है, जिसमें पहली फिटिंग शामिल है, ताकि आधे बने सूट में आवश्यकतानुसार परिवर्तन किया जा सके"[11] जबकि माप के अनुसार बने सूट को आमतौर पर "मौजूदा नमूने के आधार पर मशीन द्वारा काटा जायेगा और ग्राहक की माप के अनुसार समायोजित किया जायेगा."[11] "पूरी तरह बिसपोक और नाप लेकर बनाये हुए सूट दोनों "आदेश के मुताबिक" बने होते हैं, क्योंकि वे ग्राहक के सटीक माप और विनिर्देशों के मुताबिक बने होते हैं, हालांकि ऑफ द पेग सूट में ऐसा नहीं होता."[11]

व्युत्पत्तिविज्ञानी माइकल क्वीनियन जैसे कुछ लोगों ने इस निर्णय को कुछ इस रूप में देखा कि "ऐतिहासिक कला शब्द ने विषय परिवर्तन किया है"[14] कुछ अन्य लोगों ने निष्कर्ष निकाला कि "बिसपोक सिलाई, अनाधिकृत तौर पर, का मतलब पारंपरिक तौर पर शब्दकोश में दी गई परिभाषा से कहीं आगे जाता है"[5] और कहा कि एएसए ने " यह घोषणा कर एक-अज्ञानी निर्णय लिया कि "बिसपोक और माप के अनुसार निर्माण में कोई अंतर नहीं है।"[15]

अन्य उपयोग[संपादित करें]

एक समय फैशन उद्योग का एक विशेष शब्द ‍िबस्पोक काफी तेजी से अन्य उद्योगों में बढ़ने लगा, जिनमे ये शामिल हैं:

  • कंप्यूटर सॉफ्टवेयर जिसमें यह एकल कंपनी और/या कार्य के लिए सॉफ्टवेयर डिजाइन एवं लेखन को संदर्भित करता है।
  • दूरसंचार, विशेष ग्राहकों के लिए गैर-मानक समाधानों के संदर्भ में इसका जिक्र किया जाता है।
  • वित्त, व्यक्तिगत रूप से निर्मित म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो और संरचित वित्त उत्पादों सहित.
  • फर्नीचर
  • आंतरिक डिजाइन
  • संगीत प्रथागत संगीत प्रोजेक्ट्स और निर्माण; रैप कलाकार डेमार्व्लेस्ट का उपनाम भी बीस्पोक है। .
  • विलासिता वाले वाहनों के आंतरिक कार्य और कोचबिल्डिंग.
  • इंग्लैंड में ब्रिस्टल कारें बचे हुए वास्तविक दुर्लभ बिस्पोक कार उत्पादकों में से हैं, क्योंकि ये कारें केवल आदेशों पर ही बनाई जाती हैं, किसी एसेंबली लाइन पर नहीं, साथ ही कुछ कारों को बनाते समय उसके अंग के पुर्जे अभी भी इंग्लिश व्हील से ही बनाये जाते हैं (हालांकि, यह ध्यान में रखते हुए कि क्रिसलर इंजन और संचारण बिस्पोक नहीं है).
  • आग्नेयास्त्र विशेष रूप से विलासिता वाले खेल संबन्धी शस्त्र जैसे आवाज वाली बन्दूकें और राइफलें, जिनमें पारंपरिक साजोसामान (जिनके ढांचे दुर्लभ लकड़ियों के बने हो सकते हैं, खोदकर किया जाने पारंपरिक अंकन, केस की रंगाई और धातु के अन्य कार्य) और पारंपरिक फिटिंग.
  • जूते बनाना जो आमतौर हाथों से काम के जरिये छोटे उत्पादकों द्वारा उपलब्ध कराये जाते हैं।
  • इत्र पारंपरिक रूप से बना इत्र, जो व्यक्ति के लिए विशेष रूप से बनाये जाते हों.
  • चीनी मिट्टी के बर्तन
  • घडियां आभूषण सहित
  • यात्रा की योजना बनाना[16]
  • एक विशेष उत्पाद या सेवा को एक खास आकार देने (जैसे लिफ़ाफा)
  • इंटरनेट विपणन या "बिस्पोक रणनीति" एक पारंपरिक इंटरनेट मार्केटिंग रणनीति, जो आमतौर पर एसईओ (SEO) या एसइएम (SEM) से संबंधित होती है

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • कस्टम-फिट
  • हौट-कोचर
  • जनसंचार अनुकूलन
  • निजीकरण
  • नई बीस्पोक आंदोलन

नोट्स[संपादित करें]

  1. टेक्सटाइल हिस्ट्री में एक लेख का प्रकाशन (खंड 34, नं 2, नवम्बर 2003, पीपी 192-213. रेडी-टू-वेयर और मेड-टू-मेज़र? कंज्यूमर चोइस इन द ब्रिटिश मेंस्वेर ट्रेड) लौरा युगोलिनी ने निष्कर्ष किया के "इंटरेस्टेड एंड वेल-इनफोर्म्ड मेल कंज्यूमर्स जेनेरली प्रिफर्ड टू बाई बीस्पोक सूट्स : वाइल युज्वली मोर एक्सपेंसिव दैन दियर रेडी-मेड काउंटरपार्ट्स, दीज़ वेयर ऑल्सो परसिव्ड टू बी बेटर क्वालिटी, बेटर लूकिंग, एंड बेटर वैल्यू, एंड देयरफॉर मोस्ट लाइकली टू इनहैंस द वियरर्स सेन्स ऑफ़ सेल्फ-वर्थ एस अ मैनली, डीसर्निंग एंड सक्सेसफुल कंज्यूमर".
  2. एक निश्चित संख्या का नियमानुसार कसौटी सहित डिजाइन एक या एक से अधिक फिटिंग के साथ निजी ग्राहकों के लिए जो फैशन हॉउस द्वारा प्रयोग किया जाता है और हर वर्ष फ्रेंच मिनिस्ट्री ऑफ़ इंडस्ट्री द्वारा एलिजीब्ल हाउस की सूची तैयार की जाती है।
  3. दर्जी रिचर्ड एंडरसन ने टेलीग्राफ में एक लेख लिखा था "एएसए (ASA) हैस गॉट द रूलिंग रोन्ग" (Anderson, Richard (2008-06-18). "Savile Row tailor Richard Anderson: bespoke must mean bespoke". The Telegraph. अभिगमन तिथि 2008-10-10.).
  4. 1895 में लीड्स फैक्ट्री क्लोदिंग कंपनी अपना नाम कभी "मैनुफैक्चरिंग क्लोदियर्स" तो कभी "बीस्पोक टेलर्स" बोलती थी (सीऍफ़. Benson, John (2003). A Nation of Shopkeepers: Five Centuries of British Retailing. Houghton Mifflin Cookbooks. पृ॰ 102. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1860647081.).

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. बेली, नैथन (1756). एन युनिवर्सल एटीमोलॉजिकल इंग्लिश डिक्शनेरी . आर वेयर.
  2. टैक्सटाइल डिजाइनिंग की कला . ग्लोबल मीडिया. ISBN 81-89940-03-1
  3. युगोलिनी, लौरा (2003). मेन एंड मेंसवियर: सारटोरियल कंज़म्पशन इन ब्रिटेन 1880-1939, पृष्ठ. 181. एश्गेट प्रकाशन, लिमिटेड ISBN 0-7546-0384-9
  4. Cockroft, Lucy (2008-06-19). "Savile Row tailors lose fight to preserve the term bespoke". The Telegraph. अभिगमन तिथि 2008-10-10.
  5. Sim, Josh (2008-07-12). "The b-word: not cut and dried". Financial Times. अभिगमन तिथि 2008-10-10.
  6. बेन्सन, जॉन (2003). अ नेशन ऑफ़ शॉपकीपर्स: फाइव सेंचरिस ऑफ़ ब्रिटिश रिटेलिंग, पृष्ठ. 102. आई.बी. टॉरिस ISBN 1-86064-708-1
  7. Norton, Kate (2006-10-31). "Savile Row Never Goes Out of Style". BusinessWeek. अभिगमन तिथि 2007-05-22.
  8. सूचना, अप्रैल 2006
  9. Savile Row Bespoke Association. "Craftsmanship". अभिगमन तिथि 2008-10-10.
  10. Savile Row Bespoke Association. "Garment specifications". अभिगमन तिथि 2008-10-10.
  11. Advertising Standards Authority (2008-06-18). "Sartoriani London". ASA Adjudications. अभिगमन तिथि 2008-10-09.
  12. Advertising Standards Authority. "About the Advertising Standards Authority". अभिगमन तिथि 2008-10-10.
  13. Advertising Standards Authority. "The CAP Code: truthfulness rule". अभिगमन तिथि 2008-10-10.
  14. Quinion, Michael (2008-09-13). "Bespoke". World Wide Words. अभिगमन तिथि 2008-10-09.
  15. Crompton, Simon (2008-07-01). "A loss to (sartorial) language". Men's Flair. अभिगमन तिथि 2008-10-10.
  16. एंट्रिम, टेलर (03-12-2009) क्लब क्लास: बिहाइंड द सीन्स विथ द न्यू वेव ऑफ़ बीस्पोक ट्रैवल प्लानर्स". वॉल स्ट्रीट जर्नल. 04-12-2009 को पुनःप्राप्त.