बालेश्वर यादव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बालेश्वर (भोजपुरी: बलेसर ; १ जनवरी १९४२ - ११ जनवरी २०११) भोजपुरी/अवधी के प्रसिद्ध लोकगायक थे। उनके गाये बिरहा बहुत ही लोकप्रिय हुए। उनका जन्म पूर्वी उत्तर प्रदेश के [ मऊ ]] के मधुबन क्षेत्र जो वर्तमान में जनपद मऊ का हिस्सा है जो घाघरा नदी के किनारे पर स्थित है। बालेश्वर राजभर भोजपुरी जगत के पहले सुपरस्टार थे, इनके कई गाने बॉलीवुड में कॉपी किया गया।

इनकी प्रमुख गाए हुए गाने निम्न्वत है :

  • सईया साजन
  • ससुरा में जैयबू
  • दुश्मन मिले सवेरे लेकिन मतलबी यार ना मिले
  • हम कोइलरी चली जाइब ए ललमुनिया के माई
  • बिकाई ए बाबू BA पास घोड़ा
  • चलीं ए धनिया ददरी क मेला
  • बाबू क मुंह जैसे फ़ैज़ाबादी बंडा, दहेज में मांगेलें हीरो होंडा

उपलब्धि[संपादित करें]

संगीत क्षेत्र में बेहतरीन योगदान के लिए १९९४ में इन्हें यश भारती पुरस्कार[1] से नवाजा गया।

  1. "Yash Bharti Award List".