बाली, राजस्थान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बाली
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य राजस्थान
ज़िला पाली
जनसंख्या 18,194 (2001 के अनुसार )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 298 मीटर (978 फी॰)

निर्देशांक: 25°11′N 73°17′E / 25.18°N 73.28°E / 25.18; 73.28

बाली राजस्थान राज्य के पाली जिले का एक कस्बा है। यह इसी नाम से एक तहसील भी है। यह शहर मीठडी नदी के किनारे बसा हुआ है।

प्रशासन[संपादित करें]

वर्तमान में यहां नगरपालिका अध्यक्ष लकमा राम चौधरी है, जो कि पार्षदो द्वारा निर्वाचित है। यह एक विधान सभा क्षेत्र भी है, जहां से उर्जा राज्‍य मन्त्री पुष्पेंद्र सिंह राणावत विधायक है। पूर्व मुख्यमन्त्री भैंरोसिंह शेखावत यहां से विधायक रह चूके हैं यहाँ के लोग सामन्य भाशा मैं इसे 'वालि' भी बोलते है। बाली पंचायत समिति में 39 ग्राम पंचायत तथा 112 राजस्‍व ग्राम है। बिसलपुर भी एक पंचायत है जहॉ पर श्री राजमल एस जैन द्वारा निर्मित भैरव आखो का अस्‍पताल है जहॉ पर मेवाड तथा राज्‍य क‍े विभिन्‍न जिलो से लोग इलाज कराने के लियें आते है यहाँ पर एक निजि शिक्षण संस्‍थान भी है जहॉ पर ग्राम तथा आस पास के बच्‍चो को निशुल्‍क शिक्षा प्रदान की जाती है ा बिसलपुर में एक मारवाड ग्रामीण बैक , सिनियर सैकण्‍डरी स्‍कूल , प्राथमिक उपस्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र , आयुवेदिेक अस्‍पताल आदि अन्‍य सुविधा भी उपलब्‍ध है।
बिसलपुर ग्राम में देवी देवताओ के प्रसिद् मंदिर भी है जिसमे मुख्‍य रूप से आशापुरा माताजी मंदिर महादेव जी मठ हिगलाज माता मंदिर , महालक्ष्‍मी मंदिर , रामेदवजी मंदिर , शनी महाराज मदिर , शितला माता मंदिर आदि है जहा पर ग्राव तथा दूसरे राज्‍यो से भी लोग अाते रहते है।
बिसलपुर ग्राम के लोगो का राजनिति में अपूर्ण योगदान भी रहा है यहाँ से ठाकूर श्री प्रथ्‍वी सिह जी देवडा पूर्व में विधायक रह चुके हैंजिला परिषद सदस्‍य के रूप में श्री आशाराम जी बारोलिया , लीला देवी मीणा का भी योग दान रहा है इसी तरह महावीर सिह देवडा जो की पंचायत समिति सदस्‍य तथा किसान संघर्ष समिति सदस्‍य भी रहे ओर कांग्रेस के प्रसिद जुझारू नेता है और वर्तमान में ग्राम पंचायत में वार्ड पंच भी है बिसलपुर ग्राम पंचायत के वर्तमान सरपंच श्रीमती ज्‍योति बारोलिया द्वारा ग्राम पंचायत में कई महत्‍वपूर्ण कार्य किये जिनका ग्राम पंचायत के लोगो ने काफी सराहना की है। बाली तहसील में भाटुन्द गाँव आता है, यहाँ पर माँ शीतला माता का विशाल मेला लगता है। यह मेला वर्ष में दो बार लगता है। भाटुन्द गाँव में बहुत बड़ा व भव्य तालाब है। भाटुन्द गाँव में बहुत मन्दिर होने के नाते इसे देव नगरी भी कहते हैं। भाटुन्द ब्राहमणो की एतिहासिक नगरी है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाली में एक दुदनी गांव हैं उसमें एक जवाई बांध है जो पश्चिमी राजस्थान का अमृतसर का जाता है और दुदनी को देवनगरी कहते हैं जो हमारे दुदनी गांव में पांडवों द्वारा मंदिर बनाया गया है जो आज प्रसिद्ध है श्री बद्री सर महादेव यहां भदेसर जी का नाम पड़ा है कि जब पांडव का भाई बिन जी नहीं आए थे तब इनके ऊपर बज्रो गए थे फिर बाद में यहां पर बारवा किया था इसलिए इन मंदिर का नाम पर असर पड़ा और हमारे बांध के अंदर पांडव ताप के गए हैं और देवों की नगरी हैं और हमारे यहां पर बड़ा एक मंदिर भी है उधर महादेव का और देवी माताजी का मंदिर है वाराही माताजी का मंदिर है और शिव जी का बड़ा मंदिर है भोलेनाथ का बड़ा मंदिर है माता जी का बड़ा मंदिर है और हमारा स्कूल भी एक है बड़ा जो विश्वसनीय है जो आज विश्व में प्रसिद्ध है जो बाली तहसील तो क्या पूरे देश में प्रसिद्ध है हमारा स्कूल इतना गौरवशाली है जहां हमारे स्कूल से बने हुए हैं और हमारे स्कूल से बने हुए हैं और आज की तारीख में हमारा गांव बहुत आगे जा चुका है

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]