बाबा नानक तीर्थ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बाबा नानक तीर्थ या बगदाद, इराक में सिख गुरुद्वारा, जिसे प्रथम विश्व युद्ध के दौरान सिख सैनिकों द्वारा फिर से खोजा गया था और फिर से सिख सैनिकों द्वारा द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मरम्मत और पुनर्निर्माण किया गया था। और 2003 तक अच्छी हालत में था। सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक सोलहवीं शताब्दी के प्रारंभ में लगभग 1511 ई. में, विश्व समुदायों की अपनी यात्रा के दौरान बगदाद आए थे। उन्होंने मक्का और मदीना जैसे मुस्लिमों के पवित्र स्थानों का भी दौरा किया।

सन्दर्भ[संपादित करें]