द्वि-आधारी योजक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(बाइनरी ऐडर से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बाइनरी ऐडर एक डिजिटल सर्किट होता है जो दो बाइनरी नंबरों का योग करता है। बाइनरी ऐडर दो मूलभूत अंगों से बनता है - अर्ध ऐडर (half adder) और पूर्ण ऐडर (full adder)।

मूलभूत अंग[संपादित करें]

अर्ध योजक[संपादित करें]

अर्ध ऐडर का सर्किट डायग्राम
इनपुट आउटपुट
A B C S
0 0 0 0
1 0 0 1
0 1 0 1
1 1 1 0

अर्ध योजक एक डिजिटल सर्किट होता है जो दो बिटों का योग करता है। ये दो बिट इनपुट लेता है और दो बिट आउटपुट देता है - एक आउटपुट बिट इनपुट बिटों का योग देता है और दूसरा आउटपुट बिट उनका कैरी देता है। ऊपर दिया गया टेबल इनपुट बिटों की हर मुमकिन कॉम्बिनेशन के लिए अपेक्षित आउटपुट बिट दर्शाता है (इस टेबल में इनपुट बिटों को A और B से, कैरी आउटपुट बिट को C से और योग आउटपुट बिट को S से लेबल किया गया है)। इस टेबल से यह देखा जा सकता है कि योग आउटपुट बिट वाला कॉलम XOR गेट और कैरी आउटपुट बिट वाला कॉलम एंड गेट के ट्रुथ टेबल जैसा है। इसलिए योग आउटपुट को बनाने के लिए XOR गेट और कैरी आउटपुट को बनाने के लिए एण्ड गेट का प्रयोग किया जाता है। ऊपर दिया गया चित्र इन गेटों से बना अर्ध ऐडर दिखता है।

पूर्ण योजक[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]


इन्हें भी देखें[संपादित करें]