बलाचौर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बलाचौर
—  city  —
बलाचौर में स्थित सचखंड धाम
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य पंजाब
ज़िला नवांशहर
जनसंख्या 18,106 (2001 के अनुसार )

निर्देशांक: 31°03′35″N 76°18′10″E / 31.0596618°N 76.3028812°E / 31.0596618; 76.3028812 बलाचौर उत्तर भारत के पंजाब राज्य मे नवांशहर शहर की एक तहसील है। बला चौर दोआबा क्षेत्र के अंदर आता है और काफ़ी सारे गाँव इसके अंदर आते है। बला चौर में चौधरी रहमत अली (जिन्होने पाकिस्तान शब्द की पहली बार घोषणा की) का ज्न्म हुआ था।

एतिहसिक[संपादित करें]

कछवाहा राजपूत राज देव ने १६वीं शताब्दी मे पहली बार बला चौर मे आकर रहना शुरू किया अपने परिवार के साथ, उनका संबध जयपुर के राज घराने के साथ था। राज देव ने यहा भक्ति करनी शुरू की और इस जगह का नाम अपने पुत्र बलराज देव के नाम पर रखा। राज देव की मृत्यु १५९६ मे हुई। स्थानिया लोगो ने उनकी मज़ार बनाई और उसे बाबा बलराज के नाम से पूजने लगे। आज भी बाबा बलराज का मंदिर बला चौर मे स्थित है, मंदिर की देख रेख के लिए मंदिर कमेटी भी बनाई गयी १९४९ मे जिनके संरक्षक बलवंत सिंह थे। १५३९ मे शेरशाह सूरी ने हुमायूँ पर हमला करने से पहले यही पर बाबा राज देव से आशीष ली थी।

वर्तमान[संपादित करें]

२००१ की जनगणना के अनुसार बला चौर की जनसंख्या १९१०६ थी, जिसमे ५३% पुरुष और ४७% महिलाए है।[1] साक्षरता की दर ६८% है जो की राष्ट्रिया दर (५९। ५%) से उपर है। ५६% पुरुष और ४४% महिलाएं साक्षर है। १२% जनसंख्या ६ वर्ष से कम आयु की है। तहसील होने के कारण बला चौर, आस पास के ग्रामीण क्षेत्रो के लिए काफ़ी महत्व पूर्ण है। यहा पर काफ़ी सरकारी दफ़्तर है, स्थानिया अदालत भी यही है और काफ़ी बड़ा बाज़ार भी है।

कुछ प्रमुख गाँव जो तहसील के अंदर आते है उनमें रतेवाल, थोपिया, कटवारा, टकरला, चनीयानी आदि।

अर्थ व्यवस्था[संपादित करें]

चित्र:Baba-Balraj-Balachaur2.jpg
बाबा बलराज मंदिर, बलाचौर

बला चौर मे कोई बड़ा उद्योग नही है, यहा और आस पास के लोगो की आय का मुख्य स्रोत खेती बड़ी ही है। गेंहू और मक्का प्रमुख फसले है जो की साल मे उगाई जाती है। शिक्षित वर्ग संपूर्णतया नौकरी करना पसंद करता है। काफ़ी लोग आस पास के शहरो (रोपड़, नवांशहर, चंडीगड़) मे ही नौकरी करते है। किसान वर्ग अपनी फसल बला चौर की अनाज मंडी मे लाकर बेचते है। बला चौर मे ईलाके का सबसे बड़ा बज़ार है जहाँ ज़रूरत की सभी चीज़े मिल जाती है। बला चौर मे के सी सिनिमा घर भी है जहाँ नयी फ़िल्मे दिखाई जाती है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "भारत की जनगणना २००१: २००१ की जनगणना के आँकड़े, महानगर, नगर और ग्राम सहित (अनंतिम)". भारतीय जनगणना आयोग. अभिगमन तिथि 2007-09-03.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]