ब्रह्मपुर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(बरहामपुर से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
ब्रह्मपुर
—  नगर  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य ओड़िशा
नगर पाल शिव दाश
जनसंख्या 3 लाख () (2001 के अनुसार )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 27 मीटर (89 फी॰)

निर्देशांक: 19°19′N 84°47′E / 19.32°N 84.78°E / 19.32; 84.78 ब्रह्मपुर(ओड़िआ: ବ୍ରହ୍ମପୁର},{english: Brahmapur/Berhampur} जो रेशम नगरी के नाम से जाना जाता है, ओड़िशा राज्य का प्रमुख एबं पुरातन नगरों में से एक है। ब्रह्मपुर भारत के पूर्व तट से लगा है। ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर से लगभग 170 किमी दूर बरहमपुर को पूर्वोत्तर और दक्षिण भारत से जोड़ने वाले रास्ते की दहलीज माना जाता है। प्राकृतिक रंगों के इस्तेमाल से तैयार होने वाले सिल्क के चलते इसे सिल्क सिटी का भी नाम मिला है। यह ओड़िया के साथ तेलुगु भाषा, संस्कृति और साहित्य का भी केंद्र रहा है। कहा जाता है कि ओडिसी डांस, ओडिसी साहित्य और तेलुगु लिपि का जन्म यहीं हुआ। यह नगर, रेशम के शाढी, मंदिर, इसकी संस्क्रूति, सुस्वादु भोजन एवं खाना पीना के लिए प्रसिध है। ब्रह्मपुर की जनसंख्या 2009 (संभाभित) के अनुसार 4 लाख से ज्यादा है।

ब्रह्मपुर का इतिहास[संपादित करें]

ब्रह्मपुर नगर के चारो तरफ कभी कलिंग राज्य का आत्मा बैठ ता था। कलिंग राज्य का राजधानी और केंद्र हजारों साल तक इसीके आस पास रहा । सम्राट अशोक का सिला लेख ब्रह्मपुर नगर के पास जाऊगढ़ में अभी भी हे । कलिंग की ईस्ट देवी तारा तारिणी शक्ति पीठ भी एसी सहर के पास हे। ब्रह्मपुर नगर ब्रिट्रिश शासन कि अबधि मैं माद्रास प्रेसिडेन्सी की अधीन में था। सन 1936 मै ओडिशा राज्य पुनर्गठन के वाद गंजाम जील्ला मै सामिल हुआ।

अर्थतंत्र[संपादित करें]

ब्रह्मपुर नगर दक्षिण ओडिशा कि आर्थिक राजधानी के रूप में माना जाता है। प्रमुख व्यवसाइक संगठन यहाँ स्थित है।

यातायात[संपादित करें]

यह नगर भारत के हर प्रान्त को रेल एबं सडक मार्ग से जुडा हुआ है। नज्दिक हवाई अडा भुवनेश्वर है।

ब्रह्मपुर के शिक्षण संस्थान[संपादित करें]

खानपान[संपादित करें]

द़क्षिण भारत के साथ सटे हुए कारण, यहाँ की खानपान में द़क्षिण भारतीय खाना के साथ साथ ओडिआ खाना कि एक अपूर्व मिश्रण है। यहाँ कि एक अनोखी बात ये है की सुबह कि नाश्ता ज्यादातर लोग बाहार हि करते है।

दर्शनीय स्थल[संपादित करें]

समाचार पत्र[संपादित करें]

बाज़ार[संपादित करें]

ब्रह्मपुर रेशम शाढि, अलंकार, क्रुषि जात पदार्थ का एक प्रमुख बाजार है।

सन्दर्भ[संपादित करें]