बनाफर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बनाफर भारत में अहीर व राजपूत मूल की उपजाति/गोत्र है।[1]

आल्ह-खण्ड काव्योंके अनुसार आल्हा और ऊदल १२वीं सदी के महान सेनापति थे जिनको इसी गोत्र का माना जाता है। धर्मिक विषयों के प्रोफेसर एल्फर्ड जॉन हिल्टेबीटल के अनुसार ऊदल की जाति स्पष्ट रूप से ज्ञात नहीं है क्योंकि उनकी पृष्ठभुमि मिश्रित है।[2] काव्य में उल्लिखित सामग्री के अनुसार आल्हा और ऊदल मध्यकालीन समय के बहादूर योद्धा थे।[3]

सन्दर्भ

  1. Crowley, Thomas (2020-09-07). Fractured Forest, Quartzite City: A History of Delhi and its Ridge (अंग्रेज़ी में). SAGE Publishing India. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-93-5388-556-4.
  2. हिल्टेबीटल, एल्फ़ (1999). Rethinking India's oral and classical epics : Draupadī among Rajputs, Muslims, and Dalits. शिकागो: यूनिवर्सिटी ऑफ़ शिकागो प्रेस. OCLC 368647447. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-226-34055-5.
  3. तालबोट, सिंथिया (2016). The Last Hindu Emperor : Prithviraj Chauhan and the Indian Past, 1200-2000. कैम्ब्रिज, यूनाइटेड किंगडम. OCLC 913712092. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-107-11856-0.