बख्तावर सिंह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

महाराणा बख्तावरसिंह मध्यप्रदेश के धार जिले के अमझेरा कस्बे के शासक थे, जिन्होंने १८५७ के स्वतंत्रता संग्राम में मध्य प्रदेश में अंग्रेजों से संघर्ष किया। लंबे संघर्ष के बाद छलपूर्वक अंग्रेजों ने उन्हें कैद कर लिया। 10 फरवरी 1858 में इंदौर के महाराजा यशवंत चिकित्सालय परिसर के एक नीम के पेड़ पर उन्हें फांसी पर लटका दिया। उनका परिवार रिंगनोद किले में जाकर रहने लगा जो अमझेरा का दूसरा किला था अमझेरा के आखरी शासक राव लक्ष्मण सिंह जी राठौड़ थे | ठा. दीप सिंह जी छड़ावद के पुत्र थे | रानी भटियानी जी जो रिंगनोद किले में रहती थी उन्होंने लक्ष्मण सिंह जी को दत्तक लिया | राव लक्ष्मण सिंह जी अमझेरा राज्य के आखरी शासक थे जहां उनका वंश छड़ावाद जागीर के रुप मैं मिलता है |[1] मध्यप्रदेश सरकार ने अमझेरा स्थित राणा बख्तावरसिंह के किले को राज्य संरक्षित इमारत घोषित किया है।जिला मुख्यालय से 27 km इंदोर अ हमदबाद राज्य मार्ग पर हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. पाटिल, प्रेमविजय (12 अगस्त 2016). "अमर शहीद महाराणा बख्तावरसिंह". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. अभिगमन तिथि 1 सितंबर 2016.