फ्री इण्डिया सोसायटी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

फ्री इण्डिया सोसायटी, इंग्लैण्ड में भारतीय छात्रों का एक संगठन था जो भारत को अंग्रेजों की गुलामी से मुक्त करने के लिए संकल्पबद्ध थे। इसकी स्थापना भारत के विनायक दामोदर सावरकर ने १९०६ में की थी जब वे कानून की पढ़ाई के लिए लन्दन पहुँचे थे।[1] यह सोसायटी इटली के राष्ट्रवादी कान्तिकारी नेता ज्यूसेपे मेत्सिनी के विचारों से प्रभावित थी। सावरकर ने मेत्सिनी की जीवनी भी लिखी थी। प्रत्येक रविवार को नियमित इसकी बैठक होती थी और वहाँ भारतीय त्यौहार मनाए जाते थे तथा भारतीय देशभक्तों का स्मरण किया जाता था। इसमें भारत की राजनैतिक समस्या तथा अंग्रेजों की गुलामी से मुक्ति पर भी चर्चा होती थी। वहीं से सावरकर ने बम बनाने की पुस्तिका भी भारत भेजी थी। सावरकर स्वतन्त्रता के लिए युद्ध की वकालत करते थे ।[2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]