फुल्टन भाषण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अमेरिका में फुल्टन नामक स्थान पर ब्रिटिश नेता विष्टन चर्चिल ने भाषण देते हुए कहा कि अब हम एक तानाशाही के स्थान पर दूसरे तानाशाही को स्थापित नहीं होने देगे।इसे रोकने के लिए सभी उपायो का सहारा लिया जाएगा।इस तरह यहां सर्वहारा को समाप्त करने की बात कही गयी। इस भाषण ने पूंजीवादी राष्ट्र एवं सोवियत संघ के मध्य अविश्वास का भाव उत्पन्न किया फलतः शीत युद्ध को प्रोत्साहन मिला।