फरहाना ताज

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

5 सितंबर 1980 को हैदराबाद में जन्मी फरहाना ताज उर्दू, अरेबिक और हिन्दी की लेखिका हैं। हिन्दी में ये मधु धामा[1][2] के नाम से लिखती हैं। इनके संघर्षपूर्ण जीवन पर आधारित नाटक का मंचन सुनील चौहान के निर्देशन में देश के विभिन्न शहरों जैसे परमार्थ निकेतन ऋषिकेश[3][4] श्रीराम सेंटर, दिल्ली[5]गुड़गांव[6][7][8][9][10][11][12] सुशांत लोक हरियाणा[13] रामबांस, खुर्जा बुलंदशहर[14][15][16][17] आदि जगह हो चुका है। इनके जीवन पर फिल्म[18] का निर्माण भी हो रहा है। फरहाना ताज से[19] निर्माता-निर्देशक संजय मलिक ने[20] बालीवुड की बड़ी स्टार कास्ट के लिए[21] कहानी लेखन के लिए अनुबंध भी किया है।[22] इन्होंने मौलिक लेखन के अलावा स्वामी दयानंद सरस्वती जी के अधिकांश ग्रंथों का उर्दू में रूपांतरण भी किया। स्वामी दयानंद की इनकी लिखी जीवनी दर्जनों भाषाओं में प्रकाशित हो चुकी है। मूलत: उर्दू, अरेबिक और तेलुगू की जानकार एक आम गृहिणी मधु धामा ने हिन्दी साहित्य जगत और समाज सेवा में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है। दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी बोर्ड, संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार ने इन्हें देशभक्ति से परिपूर्ण लेखन, मानवीय सेवाओं और भारतीय संस्कृति के प्रचार-प्रसार के लिए संस्कृति मनीषी सम्मान से सम्मानित किया है, [23][24][25]जिसके तहत इन्हें डेढ लाख रुपए नगद, शॉल, श्रीफल और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। साहित्य लेखन के अलावा ये वेदों के प्रचार-प्रसार[26] में भी भी संलग्न रहती हैं। उत्कृष्ट हिन्दी लेखन एवं तेलंगाना में हिन्दी को बढ़ावा देने के लिए इन्हें तेलंगाना सरकार ने भी सम्मानित किया है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "पेंगुइन रेंडम हाउस की लेखिका मधु धामा". penguin. पेंगुइन इंडिया. अभिगमन तिथि 15 अप्रैल 2012.
  2. "हिन्द पाकेट बुक्स के चर्चित लेखकों में मधु धामा". deshpran. देश दर्पण. अभिगमन तिथि 5 जुलाई 2018.
  3. "नाटक की शानदार प्रस्तुति". दैनिक अमर उजाला. अमर उजाला. अभिगमन तिथि 15 अप्रैल 2018.
  4. "ऋषिकेश में नाटक का मंचन". आज का आदित्य. www.aajkaaditya.in. अभिगमन तिथि 14 अप्रैल 2018.
  5. "नाटक में इंसानियत की मिसाल पेश". vohnews.com. vohnews.com. अभिगमन तिथि 26 जुलाई 2017.
  6. "घर वापसी नाटक का मंचन". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  7. "नाटक ने दिया वेदों की ओर लौटने का संदेश". हिन्दुस्तान समाचार. हिन्दुस्तान समाचार. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  8. "नाटक ने दिया वेदों की ओर लौटने का संदेश". dailyhunt.in. dailyhunt.in. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  9. "वेदों की ओर लौटने का संदेश दिया". वेबवार्ता. webvarta.com. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  10. "नाटक का मंचन". इंडियाज न्यूज. indias.news. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  11. "नाटक का मंचन". वाइरल सच. www.viralsach.online. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  12. "एक अद्भुत नाटक". हरियाणा मेल. www.haryanamail.in. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  13. "सुशांत लोक, हरियाणा में नाटक ने लोगों को किया भावुक". न्यूज अप टू डेट. newsup2date.com. अभिगमन तिथि 26 सितंबर 2018.
  14. "वेदों की ओर लौटने को विवश कर गया नाटक". वीर अर्जुन. वीर अर्जुन. अभिगमन तिथि 4 नवंबर 2019.
  15. "वेदों की ओर लौटने को विवश कर गया नाटक". न्यूज इंडिया लाइव. न्यूज इंडिया. अभिगमन तिथि 4 नवंबर 2019.
  16. "वेदों की ओर लौटने को विवश कर गया नाटक". हिन्दुस्तान समाचार एजेंसी. हिन्दुस्तान समाचार एजेंसी. अभिगमन तिथि 4 नवंबर 2019.
  17. "वेदों की ओर लौटने को विवश कर गया नाटक". विशाल इंडिया. विशाल इंडिया. अभिगमन तिथि 4 नवंबर 2019.
  18. "फरहाना ताज के जीवन पर फिल्म". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. अभिगमन तिथि 25 अप्रैल 2016.
  19. "बालीवुड के लिए कहानी लिखेंगी फरहाना ताज". dailyhunt.in. डेयली हंट. अभिगमन तिथि 24 दिसंबर 2019.
  20. "बालीवुड के लिए लिखेंगी फरहाना ताज". jagprerna.com. जग प्रेरणा. अभिगमन तिथि 24 दिसंबर 2019.
  21. "बालीवुड में एक और लेखिका का प्रवेश". agniban.news. हिंदुस्तान समाचार. अभिगमन तिथि 24 दिसंबर 2019.
  22. "वालीवुड के लिए कहानी लेखन". newsganj.com. न्यूजगंज. अभिगमन तिथि 24 दिसंबर 2019.
  23. "मधु धामा को संस्कृति मनीषी सम्मान". अमर उजाला. अमर उजाला. अभिगमन तिथि 10 फरवरी 2019.
  24. "मधु धामा को संस्कृति मनीषी सम्मान". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. अभिगमन तिथि 10 फरवरी 2019.
  25. "मधु धामा को संस्कृति मनीषी सम्मान". वेबवार्ता. वेबवार्ता. अभिगमन तिथि 10 फरवरी 2019.
  26. "वेदों के संदेश दे गया नाटक". www.lnstarnews.com. इंस्टर न्यूज्. अभिगमन तिथि 15 सितंबर 2019.