प्रौद्योगिकी के सिद्धान्त

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

प्रौद्योगिकी के सिद्धान्त (Theories of technology) से आशय उन सिद्धान्तों से है जो प्रौद्योगिक नवाचार को बढ़ावा देने वाले कारकों की तथा समाज एवं संस्कृति पर प्रौद्योगिकी के प्रभाव की व्याख्या करते हैं। वर्तमान समय के अधिकांश प्रौद्योगिकी सिद्धान्त पहले के दो प्रचलित सिद्धान्तों, (१) प्रौद्योगिक नवाचार का रैखिक विकास, और (२) प्रौद्योगिकीय नियतत्ववाद (technological determinism), का खण्डन करते हैं।