प्रिज्म (ज्यामिति)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दो प्रिज्म ; बायें - लम्ब प्रिज्म , दायें - अलम्ब प्रिज्म

ज्यामिति में प्रिज्म उस बहुफलक को कहते हैं जिसका आधार n-भुजाओं वाला बहुभुज हो तथा इसी के समान्तर एक दूसरा सर्वसम फलक हो तथा इन दोनों समान्तर फलकों की संगत भुजाओं को मिलाने वाले n समानतर चतुर्भुजाकार फलक हों।

परिभाषा[संपादित करें]

प्रिज्म त्रिआयामी वह ठोस है जिसके दोनों सिरे समांतर अनुरूप आकार के बहुभुज होते हैं जिन्हें आधार भी कहते हैं। इसकी प्रत्येक सतह समतल बहुभुज होती है।

प्रिज्म के प्रकार[संपादित करें]

प्रिज्म का नाम उसके आधार की भुजाओं की संख्या पर निभर है।

  • खंडित प्रिज्म (truncated prism)
  • लम्ब प्रिज्म (right prism)

खंडित प्रिज्म[संपादित करें]

इस प्रिज्म के दोनों आधार समांतर नहीं होते हैं।

लम्ब प्रिज्म[संपादित करें]

इस प्रिज्म के दोनों आधार समांतर होते हैं।लम्ब प्रिज्म की कोरें दोनों समांतर आधारों पर लम्ब होती हैं। [1]

लम्ब प्रिज्म के विशिष्ट रूप[संपादित करें]

  • ऑप्टिकल प्रिज्म : जिसका आधार समबाहु त्रिभुज है .
  • घन :जिसका आधार एक वर्ग है।
  • घनाभ :जिसका आधार एक आयत है।

(पुस्तक ,ईंट ,दीवाल आदि। )

लम्ब प्रिज्म का आयतन[संपादित करें]

लम्ब प्रिज्म का आयतन निकलने के लिए पहले आधार का क्षेत्रफल निकालते हैं फिर निम्न सूत्र के द्वारा प्रिज्म का आयतन निकलते हैं। लम्ब प्रिज्म का आयतन =आधार का क्षेत्रफल x ऊंचाई

लम्ब प्रिज्म का पृष्ठ==

लम्ब प्रिज्म का पार्श्व पृष्ठ[संपादित करें]

लम्ब प्रिज्म का पार्श्व पृष्ठ निकलने के लिए पहले आधार की परिमाप निकालते हैं फिर निम्न सूत्र के द्वारा प्रिज्म का पार्श्व पृष्ठ निकलते हैं। लम्ब प्रिज्म का पार्श्व पृष्ठ =आधार की परिमाप x ऊंचाई

लम्ब प्रिज्म का सम्पूर्ण पृष्ठ[संपादित करें]

लम्ब प्रिज्म का सम्पूर्ण पृष्ठ निकालने के लिए दोनों सिरों के क्षेत्रफल में पार्श्व पृष्ठ को जोड़ देते हैं :

चित्र वीथी[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. William F. Kern, James R Bland,Solid Mensuration with proofs, 1938, p.28