प्रायिकता बंटन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

प्रायिकता सिद्धांत और सांख्यिकी, में प्रायिकता बंटन (probability distribution) वह गणितीय फलन है जो किसी प्रयोग के लिए विभिन्न संभावित परिणामों के घटित होने की प्रायिकता बताता है। [1] [2] यह एक यादृच्छिक घटना का गणितीय विवरण है।[3] यादृच्छ घटनाओं के कुछ उदाहरण ये हैं- यादृच्छिक रूप से चुने गये किसी व्यक्ति की ऊँचाई, किसी विद्यालय में छात्रों और छात्राओं का अनुपात आदि।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Everitt, Brian. (2006). The Cambridge dictionary of statistics (3rd संस्करण). Cambridge, UK: Cambridge University Press. OCLC 161828328. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-511-24688-3.
  2. Ash, Robert B. (2008). Basic probability theory (Dover संस्करण). Mineola, N.Y.: Dover Publications. पपृ॰ 66–69. OCLC 190785258. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-486-46628-6.
  3. Evans, Michael; Rosenthal, Jeffrey S. (2010). Probability and statistics: the science of uncertainty (2nd संस्करण). New York: W.H. Freeman and Co. पृ॰ 38. OCLC 473463742. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-4292-2462-8.