प्राचीन मिस्र में आत्मा की अवधारणा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मिस्र के मृतक ग्रन्थ का एक भाग

प्राचीन मिस्री प्रायः तीन आत्माओं में विश्वास करते थे। एक तो शरीर के मरने के साथ ही मर जाया करती थी, पर दो– का और बई–शारीरिक मृत्यु के बाद भी जीवित रहती थीं। 'का' का जन्म शरीर के साथ ही होता था जो जीवनकाल में शरीर की रक्षा करती थी और उसके मर जाने पर भी स्वयं जीवित रह जाती थी। 'का' का चित्र उनकी लिपि में दो ऊपर उठाए हाथों के रूप में लिखा मिलता है।