अग्नि वृत्त

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(प्रशांत अग्नि वृत्त से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
पेसिफिक अग्नि वृत्त

विश्व के लगभग दो तिहाई ज्वालामुखी प्रशांत महासागर के वृत्त में पाये जाते हैं, जिसको ज्वाला-वृत्त अथवा अग्नि-वृत्त कहते हैं।[1] अग्नि वलय 5 प्लेटो का सम्मलित भाग है। जहां पर ज्वालामुखी की क्रिया विश्ब में सबसे ज्यादा होती है। पूरे विश्व का 704 सक्रीय ज्वालामुखी इसी अग्नि वलय में आते है, जो पूरे विश्व का 63% भूकम्प इसी वलय में होता है ।इसकी लंबाई 40,000 km है। तथा यह पूरा वलय प्रशांत महासागर में पड़ता है।

             ज्वालामुखी की क्रिया में जब मैग्मा में संवहनीय धारा के कारण गति करने लगती है ,जिससे मैग्मा के ऊपर स्थित प्लेट भी गति करने लगता है जिसके कारण प्लेट के ऊपर स्थलमंडल भी कंपित होने लगते है ।  तथा जहाँ प्लेट कमजोर होता है या दो प्लेटो का जॉइन्ट पार्ट से मैग्मा बाहर आ जाता है  जिससे बाहाँ चारो तरफ अंधेरा हो जाता है । साउंड का तीब्रता 190 डेसिबल का होता है। ज्वालामुखी के क्रिया से धातु के पिघले हुए पदार्थ निकलते है,  जलवाष्प निकलते है । जिसके कारण बाहाँ पर वर्षा भी ज्यादा होता है। जब मैग्मा ठंडा होए जाता है तो उसे ही लावा कहा जाता है। 

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. भारत एवं विश्व का भूगोल पन्ना क्रमांक 2.12 गुगल पुस्तक