प्रवेशद्वार वार्ता:हिन्दी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सन् 1803 में सदल मिश्रा जी ने 'नासिकेतोपाख्यान' तथा इंशाअल्लाह ख़ान ने 'रानी केतकी की कहानी' लिखी थी| कुछ विद्वान नासिकेतोपाख्यान को हिंदी की प्रथम गद्य रचना मानते हैं तो कुछ विद्वान रानी केतकी की कहानी को| सन् 1803 में ही लल्लूलाल जी ने 'प्रेम सागर' की रचना की थी और इसी वर्ष में सिंहासन बत्तीसी भी लिखी गई थी|

देवकीनंदन खत्री जी ने चन्द्रकांता उपन्यास सन् 1888 में लिखना आरंभ किया था| देवकीनंदन खत्री जी का उपन्यास चन्द्रकांता इतनी लोकप्रिय हुई थी कि उसे पढ़ने के लिये हिंदी का ज्ञान न रखने वाले लोगों ने हिंदी सीखा था|

पोर्टल नहीं है[संपादित करें]

यह एक पोर्टल (प्रवेशद्वार) नहीं है। If you look at the top of the article, it says लेख. If you look at any English Wikipedia portal, for example en:Portal:India, it says Portal at the top. That means that it must be some other namespace, or the namespace has not been named. Please try and solve the problem. --Wolf १५:५७, २४ जनवरी २००७ (UTC)

हमे यह जानना है कि विकि में नया namespace कैसे जोडते है। यह पोर्टल (या लेख) मैने तब बनाया था जब मै प्रबंधक नही था। सहमत हूँ कि यह केवल एक लेख है, मगर इसे पोर्टल जैसा बनाने का प्रयास किया गया है। अगर यह मालूम हो सके कि नया नेमस्पेस कैसे जोड़ते है तो हिन्दी मे भी विकिपोर्टल बनाना आसान हो सकता है। वूल्फ़ यह एक बहुत अच्छा विचार है।
आभार,
--मितुल १६:०६, २६ जनवरी २००७ (UTC)