प्रवेशद्वार:बिहार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search


edit  

बिहार प्रवेश द्वार

Bihar locator map.svg

बिहार भारत का एक राज्य है । बिहार की राजधानी पटना है । बिहार के उत्तर में नेपाल, पूर्व में पश्चिम बंगाल, पश्चिम में उत्तर प्रदेश और दक्षिण में झारखन्ड है । इसका नाम बौद्ध विहारों का विकृत रूप माना जाता है । यह क्षेत्र गंगा तथा उसकी सहायक नदियों के मैदानों में बसा है । प्राचीन काल के विशाल साम्राज्यों का गढ़ रहा यह प्रदेश वर्तमान में देश की अर्थव्यवस्था के सबसे पिछड़े योगदाताओं में से एक गिना जाता है ।

प्राचीन काल में मगध का साम्राज्य देश के सबसे शक्तिशाली साम्राज्यों में से एक था । यहां से मौर्य वंश, गुप्त वंश तथा अन्य कई राजवंशो ने देश के अधिकतर हिस्सों पर राज किया । मौर्य वंश के शासक सम्राट अशोक का साम्राज्य पश्चिम में अफ़ग़ानिस्तान तक फैला हुआ था । मौर्य वंश का शासन 325 ईस्वी पूर्व से 185 ईस्वी पूर्व तक रहा । छठी और पांचवीं सदी इसापूर्व में यहां बौद्ध तथा जैन धर्मों का उद्भव हुआ । अशोक ने, बौद्ध धर्म के प्रचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और उसने अपने पुत्र महेन्द्र को बौद्ध धर्म के प्रसार के लिए श्रीलंका भेजा । उसने उसे पाटलिपुत्र (वर्तमान पटना) के एक घाट से विदा किया जिसे महेन्द्र के नाम पर में अब भी महेन्द्रू घाट कहते हैं । बाद में बौद्ध धर्म चीन तथा उसके रास्ते जापान तक पहुंच गया ।
edit  

चयनित लेख

नालंदा विश्वविद्यालय

नालंदा विश्वविद्यालय भारत के बिहार राज्य में पटना से ९० कि॰मी॰ दूर नालंदा शहर में स्थित एक प्राचीन विश्वविद्यालय था। देश विदेश से यहाँ विद्यार्थी अध्ययन के लिए आते थे। आज इसके केवल खंडहर देखे जा सकते हैं। नालन्दा विश्वविद्यालय के अवशेषों की खोज अलेक्जेंडर कनिंघम ने की थी। माना जाता है कि इस विश्वविद्यालय की स्थापना ४५०-४७० ई. में गुप्त शासक कुमारगुप्त प्रथम ने की थी। इस विश्वविद्यालय को इसके बाद आने वाले सभी शासक वंशों का सहयोग मिला। महान सम्राट हर्षवर्द्धन और पाल शासकों का भी संरक्षण मिला। इसे केवल यहां के स्थासनीय शासक वंशों से ही नहीं वरन विदेशी शासकों से भी दान मिला था। इस विश्वविद्यालय का अस्तित्व १२वीं शताब्दी तक बना रहा। इसके ऊपर पहला आघात हुण शासक मिहिरकुल द्वारा किया गया, व ११९९ में में तुर्क आक्रमणकारी बख्तियार खिलजी ने इसको जला कर पूरी तरह समाप्त कर दिया। विस्तार में...

edit  

चयनित चित्र

Ascetic Bodhisatta Gotama with the Group of Five.jpg
फल्गु नदी के तट पर गौतम बुद्ध निर्वाण से पूर्व।

edit  

चयनित जीवनी

अयोध्या प्रसाद खत्री
अयोध्या प्रसाद खत्री (१८५७-४ जनवरी १९०५) का नाम हिन्दी कविता में खड़ी बोली के महत्व की स्थापना करने वाले प्रमुख लोगों में सबसे पहले लिया जाता है। उनका जन्म बिहार में हुआ था बाद में वे बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में कलक्‍टरी के पेशकार के पद पर नियुक्त हुए। १८७७ में उन्होंने हिन्दी व्याकरण नामक खड़ी बोली की पहली व्याकरण पुस्तक की रचना की जो बिहार बन्धु प्रेस द्वारा प्रकाशित की गई थी। १८८८ में उन्‍होंने 'खडी बोली का आंदोलन' नामक पुस्तिका प्रकाशित करवाई। भारतेंदु युग से हिन्दी-साहित्य में आधुनिकता की शुरूआत हुई। इसी दौर में बड़े पैमाने पर भाषा और विषय-वस्तु में बदलाव आया। इतिहास के उस कालखंड में, जिसे हम भारतेंदु युग के नाम से जानते हैं, खड़ीबोली हिन्दी गद्य की भाषा बन गई लेकिन पद्य की भाषा के रूप में ब्रजभाषा का बोलबाला कायम रहा। अयोध्या प्रसाद खत्री ने गद्य और पद्य की भाषा के अलगाव को गलत मानते हुए इसकी एकरूपता पर जोर दिया। विस्तार से पढ़ें


edit  

सम्बंधित प्रवेशद्वार

edit  

क्या आप जानते हैं...

edit  

चयनित पर्यटन स्थल

Mahabodhitemple.jpg

बिहार की राजधानी पटना के दक्षिणपूर्व में लगभग १०० किलोमीटर दूर स्थित बोधगया गया जिले से सटा एक छोटा शहर है। कहते हैं बोधगया में बोधि पेड़़ के नीचे तपस्या कर रहे गौतम बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी. तभी से यह स्थल बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है. वर्ष २००२ में यूनेस्को द्वारा इस शहर को विश्व विरासत स्थल घोषित किया गया। करीब ५०० ई.पू. में गौतम बुद्ध फाल्गु नदी के तट पर पहुंचे और बोधि पेड़ के नीचे तपस्या कर्ने बैठे। तीन दिन और रात के तपस्या के बाद उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई, जिस्के बाद से वे बुद्ध के नाम से जाने गए। इसके बाद उन्हों ने वहां ७ हफ्ते अलग अलग जगहों पर ध्यान करते हुए बिताया, और फिर सारनाथ जा कर धर्म का प्रचार शुरू किया। बुद्ध के अनुयायिओं ने बाद में उस जगह पर जाना शुरू किया जहां बुद्ध ने वैशाख महीने में पुर्णिमा के दिन ज्ञान की प्रप्ति की थी। धीरे धीरे ये जगह बोध्गया के नाम से जाना गया और ये दिन बुद्ध पुर्णिमा के नाम से जाना गया। विस्तार में...

edit  

बिहार का खाना

Samosa01.JPG
चटपटे समोसे साथ में इमली की चटनी!
edit  

श्रेणियां

edit  

बिहार के मुख्यमंत्री


edit  

संबंधित भाषाओं में विकिपीडिया

विकिपीडिया
विकिपीडिया का अँग्रेजी संस्करण , मुक्त ज्ञानकोश
विकिपीडिया का बांग्ला संस्करण , मुक्त ज्ञानकोश
विकिपीडिया का उड़िया संस्करण , मुक्त ज्ञानकोश
edit  

बिहार विषय

edit  

जुडे़ हुए विकिमीडिया

edit  

भारतीय भाषाओं में विकिपीडिया

অসমিয়া (Assamese) • भोजपुरी (Bhojpuri) • বাংলা (Bengali) • ગુજરાતી (Gujarati) • हिन्दी (Hindi) • ಕನ್ನಡ (Kannada) • कॉशुर/كشميري (Kashmiri) • മലയാളം (Malayalam) • मराठी (Marathi) • नेपाली (Nepali) • ଓଡ଼ିଆ (Oriya) • ਪੰਜਾਬੀ (Punjabi) • संस्कृत (Sanskrit) • سنڌي (Sindhi) • தமிழ் (Tamil) • తెలుగు (Telugu) • اردو (Urdu)
edit  

बिहार : भाग, जनपद एवं मुख्य शहर

edit  

भारत: राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश