प्रवेशद्वार:अरुणाचल प्रदेश

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
edit  

अरुणाचल प्रदेश प्रवेशद्वार

अरुणाचल प्रदेश भारत का राज्य एक उत्तर पूर्वी राज्यहै। अरुणाचल का अर्थ हिन्दी मे उगते सूर्य की भूमि होता है। प्रदेश की सीमाऐं दक्षिण मे असम दक्षिणपूर्व मे नागालैंड पूर्व मे बर्मा/म्यांमार पश्चिम मे भूटान और उत्तर मे तिब्बत से मिलती हैं। हालांकि अरुणाचल प्रदेश एक भारतीय राज्य है, लेकिन चीन राज्य के एक हिस्से पर अपना दावा दक्षिणी तिब्बत के रूप में जताता है। ईटानगर राज्य की राजधानी है

प्रसिद्ध लेडो बर्मा रोड का एक भाग राज्य से होकर गुजरता है, द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इस सड़क ने चीन के लिये एक जीवन रेखा की भूमिका निभाई थी।

edit  

चयनित लेख

अरूणाचल प्रदेश की राजधानी ईटानगर बहुत ही खूबसूरत है। यह हिमालय की तराई में बसा हुआ है। समुद्रतल से इसकी ऊंचाई 350 मी. है। चूंकि यह अरूणाचल प्रदेश की राजधानी है, इसलिए यहां तक आने के‍ लिए सड़कों की अच्छीह व्यीवस्थार है। गुवाहटी और ईटानगर के नाहरलागुन के बीच हेलीकॉप्टर सेवा का भी विकल्प है। हेलीकॉप्टर के अलावा पर्यटक बसों द्वारा भी गुवाहटी से ईटानगर तक पहुंच सकते हैं। गुवाहटी से ईटानगर तक डीलक्स बसें भी चलती हैं।

ईटानगर की खोज मायापुर के साथ हुई थी। मायापुर 11वीं शताब्दी में जित्रि वंश की राजधानी थी। ईटानगर में पर्यटक ईटा किला भी देख सकते हैं। इस किले का निर्माण 14-15वीं शताब्दी में किया गया था। इसके नाम पर ही इसका नाम ईटानगर रखा गया है। पर्यटक इस किले में कई खूबसूरत दृश्य देख सकते हैं। अब इस किले को राजभवन के नाम से जाना जाता है और यह राज्यपाल का सरकारी आवास है।
edit  

चयनित चित्र

Dirang Valley 01.jpg
डिरांग घाटी का मनोरम दृश्य
edit  

प्रवेशद्वार:अरुणाचल प्रदेश का नक्शा

अरुणाचल प्रदेश का जिलेवार नक्शा
edit  

श्रेणियां

edit  

संबंधित प्रवेशद्वार

edit  

चयनित पर्यटन स्थल

चांगलांग अरुणाचल प्रदेश प्रान्त का एक शहर है। अरूणाचल प्रदेश में स्थित चांगलांग बहुत ही खूबसूरत स्‍थान है। यह अपनी खूबसूरती के लिए बहुत प्रसिद्ध है। इसकी खूबसूरती को निहारने के लिए हर वर्ष यहां पर हजारों की संख्या में पर्यटक आते हैं। कृषि यहां के लोगों का मुख्य काम-धंधा है। इसी पर इसकी अर्थव्यवस्था भी टिकी हुई है। इसकी अधिकतर जनंसख्या गांवों में वास करती है। यह गांव बहुत ही आकर्षक हैं। यहां के प्रत्येक गांव में अलग-अलग प्रकार से खेती की जाती है। इन गांवों में हर वर्ष अनेक उत्सव भी मनाए जाते हैं। चांगलांग में अनेक जातियां रहती हैं। इनमे तांग्सा, मुकलोम, हावी, लोंगचांग, जुगली, किमसिंग, मुगरी, रोंरांग, मोसोंग और लांगफी प्रमुख हैं। इन जातियों की संस्कृति अलग-अलग और बहुत रंग-बिरंगी है। यहां आने वाले पर्यटकों को इनकी संस्कृति बहुत पसंद आती हैं। यह विविधताओं भरा क्षेत्र है क्योकि यहां कहीं खुले मैदान हैं तो कहीं ऊंचे-ऊंचे पहाड़। इस कारण यहां पर वर्षा भी असमान होती है।
edit  

अरुणाचल प्रदेश का खाना

अरुणाचल प्रदेश के मोमोज़ के साथ ही मिर्चदार चटनी, जो कि सभी जगह प्रसिद्ध है।


माया कृष्णा राव
edit  

विषय

edit  

विकिपीडिया पूर्वोत्तरी भाषा में


edit  

विकिपरियोजनाएं


edit  

संबंधित विकिमीडिया