प्रयाग महिला विद्यापीठ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

प्रयाग महिला विद्यापीठ इलाहाबाद स्थित महिला विद्यापीठ है। इलाहाबाद के एक प्रबुद्ध नागरिक श्री संगमलाल अग्रवाल ने महिलाओं को शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से इसकी स्थापना की थी जिसकी प्रधानाचार्या महादेवी वर्मा को बनाया गया था। यह विद्यापीठ इलाहाबाद के दक्षिण मलाका नामक मुहल्ले में स्थित है।

इस संस्था के माध्यम से प्राइवेट परीक्षाओं 'प्रवेशिका', 'विद्या विनोदिनी', 'विदुषी' तथा 'सरस्वती' आदि की शिक्षा दी जाती थी। संगमलाल जी इन परीक्षाओं के द्वारा महिलाओं मे शिक्षा का प्रसार करना चाहते थे।

जब प्रयाग महिला विद्यापीठ स्कूल को हाईस्कूल और फिर इंटर कॉलेज बनाया गया तो महादेवी जी ने शिक्षा अधिनियम के अंतर्गत अपने आपको प्रधानाचार्या न बनाए रखकर सुजाता बोस को कॉलेज की प्रधानाचार्या बनाया था।

1971 में जब इसे महाविद्यालय का स्तर प्राप्त हुआ[1]। तो वे फिर से इसके महाविद्यालय विभाग की प्रधानायार्या बनीं। महादेवी जी ने इस संस्था को अपने आप से इस तरह जोड़ लिया था कि दोनों एक दूसरे के पर्याय बन गए थे और धीरे-धीरे वह दिन भी आया, जब प्रयागवासी ही यह भूल गए कि प्रयाग महिला विद्यापीठ की स्थापना संगमलाल अग्रवाल ने की थी।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://gist.ap.nic.in/cgi-bin/edn/ednshow.cgi/?en=02790