प्रधानमंत्री आर्थिक सलाहकार परिषद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

प्रधानमंत्री आर्थिक सलाहकार परिषद या 'पीएमईएसी' भारत में प्रधानमंत्री को आर्थिक मामलों पर सलाह देने वाली समिति है। इसमें एक अध्यक्ष तथा चार सदस्य होते हैं। इसके सदस्यों का कार्यकाल प्रधानमंत्री के कार्यकाल के बराबर होता है। आमतौर पर प्रधानमंत्री द्वारा शपथ ग्रहण के बाद सलाहकार समिति के सदस्यों की नियुक्ति होती है। प्रधानमंत्री द्वारा पदमुक्त होने के साथ ही सलाहकार समिति के सदस्य भी त्यागपत्र दे देते हैं।

इतिहास[संपादित करें]

१७ मई २०१४ को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के पदमुक्त होने के समय इस समिति के प्रमुख चक्रवर्ती रंगराजन थे। इसके चार अन्य सदस्य थे- सौमित्र चौधरी, वी.एस. व्यास, पुलिन बी. नायक और दिलीप एम. नचाने।[1]

कार्य[संपादित करें]

आर्थिक सलाहकार परिषद एक स्वतंत्र निकाय है, जिसका कार्य आर्थिक मुद्दो पर सरकार को ,विशेष कर प्रधानमंत्री को सलाह देना है। यह सलाह अपनी ओर से अथवा प्रधानमंत्री द्वारा सौपें गये किसी विषय पर हो सकती है। इसके अतरिक्त प्रधानमंत्री द्वारा सोपें गये किसी अन्य कार्य को अंजाम देना भी इसके कार्यो में शामिल है।

सन्दर्भ[संपादित करें]