प्रद्योत वंश

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

प्रद्योत वंश प्राचीन भारत का एक राजवंश था जिसका शासन अवन्ति पर था। इसके संस्थापक प्रद्योत थे जो सुनीक (भविष्यपुराण, १.४ के अनुसार शुनक अथवा क्षेमक) के पुत्र (वायुपुराण) थे। प्रद्योत म्लेच्छों ( हारहूण, बर्बर, यवन, खस, शक, कामस आदि) से अपने पिता का प्रतिशोध लेने के लिये म्लेच्छयज्ञ करने के कारण 'म्लेच्छहंता' कहलाए।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]