प्रद्योत वंश

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

प्रद्योत वंश प्राचीन भारत का एक राजवंश था जिसका शासन अवन्ति पर था। इसके संस्थापक प्रद्योत थे जो सुनीक (भविष्यपुराण, १.४ के अनुसार शुनक अथवा क्षेमक) के पुत्र (वायुपुराण) थे। प्रद्योत म्लेच्छों ( हारहूण, बर्बर, यवन, खस, शक, कामस आदि) से अपने पिता का प्रतिशोध लेने के लिये म्लेच्छयज्ञ करने के कारण 'म्लेच्छहंता' कहलाए।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]