पुनर्जन्म (बौद्ध धर्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बौद्ध धर्म के सन्दर्भ में पुनर्जन्म का अर्थ है मृत्यु के बाद पुनः जन्म लेना और संसारचक्र में बने रहना। जन्म के बाद मृत्यु और मृत्यु के बाद पुनः जन्म का यह अनन्त चक्र एक महान दुःख है। यह चक्र तभी टूटता है जब ज्ञान प्राप्त होता है और इच्छाओं का अन्त हो जाता है।

कर्म, निर्वाण और मोक्ष की भांति पुनर्जन्म भी बौद्ध धर्म का एक मूल सिद्धान्त है।