पादप जनन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
लैंगिक जनन करने वाले पादपों के पुष्पों में वे संरचनाएँ होतीं हैं जो लैंगिक जनन में सहायक होतीं हैं।
अलैंगिक जनन करने वाला एक पादप (पथरचटा, जो पत्तियों के किनारों पर उत्पन्न कलियों के द्वारा जनन करते हैं।

पादप पजनन (plant reproduction) से आशय पौधों द्वारा नई संतान उत्पन्न करने से है। पादप जनन, लैंगिक जनन द्वारा या अलैंगिक प्रजनन द्वारा पूरा किया जा सकता है। लैंगिक जनन वह है जिसमें युग्मकों के संलयन (fusion) से संतान पैदा होते हैं और जिसके परिणामस्वरूप संतान आनुवंशिक रूप से माता-पिता के समान या माता-पिता से भिन्न होती है। अलैंगिक प्रजनन युग्मकों के संलयन के बिना नए पादपों का निर्माण करता है। इसके द्वारा उत्पन्न नयी सन्तान आनुवंशिक रूप से मूल पौधों के समान होती है, और मूल पौधे से केवल तब अलग होती जब उत्परिवर्तन होते हैं।

अलैंगिक प्रजनन[संपादित करें]

अलैंगिक प्रजनन में नर और मादा युग्मकों का उत्पादन और संलयन शामिल नहीं होता है। अलैंगिक प्रजनन द्विआधारी विखंडन, नवोदित, विखंडन, बीजाणु निर्माण, पुनर्जनन और वनस्पति प्रसार के माध्यम से हो सकता है। पौधों में दो मुख्य प्रकार के अलैंगिक प्रजनन होते हैं जिसमें नए पौधे उत्पन्न होते हैं जो मूल पादप के आनुवंशिक रूप से समान क्लोन होते हैं।