पाकिस्तान रेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
पाकिस्तान रेल
System map
पाकिस्तान रेल नेटवर्क
PR
अवस्थिति पाकिस्तान
प्रचालन की तिथियां 1947–present
रेल गेज 1,676 मि॰मी॰ (5 फीट 6 इंच) and 1,000 मि.मी. (3 फीट 3⅜ इंच)
मुख्यालय लाहौर
जालस्थल pakrail.com/
पाकिस्तान के रेल नेटवर्क
लाहौर रेलवे स्टेशन
कराची कैंट से लाहौर के लिए काराकोरम एक्सप्रेस जा रहा है। स्टेशन

पाकिस्तान रेलवे के पाकिस्तान के एक राष्ट्रीय स्वामित्व राज्य के रेल परिवहन सेवा है, लाहौर में मुख्यालय. यह संघीय सरकार द्वारा रेल मंत्रालय के तहत प्रशासित है। पीआर पाकिस्तान भर में परिवहन के एक महत्वपूर्ण मोड प्रदान करता है। यह सामान्यतः "देश की जीवन रेखा" के रूप में है और पाकिस्तान भर में लोगों और माल की बड़े पैमाने पर आंदोलन में सहायता करके, संदर्भित किया जाता है। वर्तमान अध्यक्ष शाहिद हुसैन राजा है। संगठन दिवालिया हो चुकी है और लागत में कटौती के एक उपाय में सभी माल और कई यात्री सेवाओं को बंद कर दिया है।

घरेलू[संपादित करें]

पाकिस्तान में रेल सेवा राज्य संचालित, पाकिस्तान रेलवे द्वारा प्रदान की जाती है, जिसका पर्यवेक्षण रेल मंत्रालय द्वारा किया जाता है। पाकिस्तान रेलवे, पाकिस्तान में परिवहन का एक महत्त्वपूर्ण माध्यम है जो वृहत स्तर पर यात्रियों और माल के आवागमन की सेवा प्रदान करता है। रेलवे तंत्र के अंतर्गत 8,163 किलोमीटर[1] का क्षेत्र है जिसमे से 1,676 मि॰मी॰ (5 फीट 6 इंच) (ब्रॉड गेज) अकेले ही 7,718 किलो मीटर का क्षेत्र समावेशित करता है और यह 293 किलोमीटर के विद्युतीकृत ट्रैक को भी सम्मिलित करता है। 1,000 मि.मी. (3 फीट 3⅜ इंच) नैरो गेज ट्रैक शेष 445 किलोमीटर में समाहित हैं। कुल आय का 50 प्रतिशत यात्रियों के किराये से प्राप्त होता है। 1999-2000 के दौरान यह 4.8 बिलियन रुपये तक हो गया था।[कृपया उद्धरण जोड़ें] पाकिस्तान रेलवे प्रतिवर्ष 65 मिलियन यात्रियों को आवागमन करता है और प्रतिदिन 228 मेल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों को चलाता है। पाकिस्तान रेलवे विभिन्न अवसरों के लिए विशेष रेलगाड़ियां भी चलाता हैं। मालवाहक व्यापारिक इकाई जिसमे 12000 कर्मचारी हैं, यह रेलवे तंत्र पर 200 से भी अधिक मालवाहक अड्डों का परिचालन करती है। एफबीयू (FBU) कराची पत्तन और कासिम पत्तन पर कार्य करती है और साथ ही साथ तंत्र के अन्य कई अड्डों पर भी और यह कृषि संबंधी, औद्योगिक तथा आयातित वस्तुओं जैसे कि गेहूं, कोयला, खाद, सीमेंट और चीनी जैसी वस्तुओं की खरीद फरोख्त के द्वारा आय अर्जित करती है। लगभग 39 प्रतिशत आय पेट्रोलियम के परिवहन से प्राप्त होती है, 19 प्रतिशत गेहूं, खादों और रॉक फॉस्फेट के आयात से. शेष 42 प्रतिशत घरेलू ट्रैफिक के माध्यम से अर्जित होती है।[कृपया उद्धरण जोड़ें] माल वाहन की दर की रूपरेखा सड़क परिवहन के बाज़ार के रुख पर आधारित होती है जोकि रेल परिवहन का एक प्रमुख प्रतिस्पर्धी भी है।

व्यापक स्तर पर पारवहन[संपादित करें]

कराची सर्कुलर रेलवे जिसकी शुरूआत 1940 के दशक के पूर्वार्ध में हुई थी, वह आज तक पाकिस्तान की एकमात्र चलती हुई व्यापक पारवहन प्रणाली है। 1976 में कराची में एक भूमिगत मेट्रो संयत्र पर कार्य शुरू करने की प्रक्रिया चल रही थी लेकिन यह सभी योजनायें तब से ही विलंबित दी गयी है। एक अन्य प्रस्ताव लाहौर मेट्रो के लिए है जिस पर अभी भी योजना बनायी जा रही है और इसके 2020 तक समाप्त हो जाने की सम्भावना है।

अन्तर्राष्ट्रीय[संपादित करें]

ईरानईरान- ब्रॉड गेज की एक रेलवे लाइन ज़हेदन से क्वेटा तक चलती है और मानक गेज लाइन शेष ईरानी रेल तंत्र से जुड़ते हुए केन्द्रीय ईरान में ज़हेदन से कर्मन पर समाप्त हो जाती है। 18 मई 2007 को पाकिस्तान और ईरान द्वारा रेल निगम के लिए एक एमओयू (MOU) पर हस्ताक्षर किया गया जिसके अंतर्गत दिसंबर 2008 तक इस लाइन का कार्य पूरा होना था। अब जबकि रेल प्रणाली ज़हेदन पर जुड़ती है तो इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान रेलवे के मानक गेज ट्रैक और पकिस्तान रेलवे के ब्रॉड गेज ट्रैक के बीच गेज विच्छेदित होता है।[2]

अफ़्गानिस्तानअफगानिस्तान- वर्तमान में अफगानिस्तान जाने के लिए कोई रेल मार्ग नहीं है क्योंकि उस देश में रेल तंत्र नहीं है हालांकि पाकिस्तान रेल ने तीन चरणों में एक अफगानी रेल नेटवर्क बनाने का प्रस्ताव दिया है। पहला चरण अफगानिस्तान में चमन से लेकर स्पिन बोल्डक तक फैला होगा। दूसरे चरण में लाइन को कंधार तक विस्तृत किया जायेगा और तीसरे चरण में इसे अंततः हेरात तक जोड़ा जायेगा. वहां से, लाइन को खुश्का, तुर्कमेनिस्तान तक बढ़ाया जायेगा. अंतिम चरण में 1,676 मि॰मी॰ (5 फीट 6 इंच) गेज को 1,520 मि.मी. (4 फीट 11⅞ इंच) केन्द्रीय एशियाई गेज से जोड़ा जायेगा. यह स्पष्ट नहीं कि गेज विच्छेदन स्टेशन कहां पर होगा। [3] यह प्रस्तावित लाइन दल्बदीन और ताफ्तान से होते हुए ग्वाडर के पोर्ट टाउन से भी जोड़ी जायेगी, इस प्रकार यह पोर्ट टाउन को केन्द्रीय एशिया से जोड़ देगी.

चीनी जनवादी गणराज्य चीन- चीन के साथ जोड़ने वाली कोई लाइन नहीं है, हालांकि 28 फ़रवरी 2007 को समुद्र तल से 4730 मीटर की उंचाई पर स्थित खुन्जेराब पास से होते हुए हवेलियन से लेकर काश्घर स्थित चीनी रेलहेड तक, जिसकी कुल दूरी लगभग 750 किलोमीटर है, की प्रस्तावित लाइन की साध्यता अध्ययन के लिए ठेके दिए गए थे।[4]

हाल ही में, तुर्की तुर्की- इस्तांबुल-तेहरान-इस्लामाबाद यात्री रेल सेवा प्रस्तावित की गयी थी।[5]. इसी बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री युसुफ़ रज़ा गिलानी द्वारा 14 अगस्त 2009 को इस्लामाबाद और इस्तांबुल के बीच एक कंटेनर ट्रेन सेवा चालू की गयी थी। पहली ट्रेन 20 कंटेनर लेकर गयी थी जिनकी क्षमता 750 द्रव्यमान (738 लंबे टन; 827 लघु टन) थी[6] और इस्लामाबाद से तेहरान, इरान और इस्तांबुल तक दो सप्ताह के समय में 6,500 कि॰मी॰ (4,000 मील) चलेगी. रेलवे मंत्री गुलाम अहमद बिलौर के अनुसार, कंटेनर ट्रेन सेवा के परीक्षण के बाद एक यात्री रेल भी शुरू की जायेगी.[7] इस बात की भी आशा है कि इस मार्ग द्वारा अंततः यूरोप और केन्द्रीय एशिया के लिए एक मार्ग प्राप्त हो जायेगा और यात्रियों का आवागमन हो सकेगा.[8]

साँचा:देश आँकड़े Turkmenistan अफगानिस्तान - द्वारा तुर्कमेनिस्तान

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The Central Intelligence Agency. "World Factbook - Pakistan". अभिगमन तिथि 2007-06-28.
  2. http://en.wikipedia.org/wiki/Railway_Gazette_International
  3. "Govt considers railway links with central Asia". मूल से 2012-09-05 को पुरालेखित.
  4. Associated Press of Pakistan. "PR signs deal with foreign firm for pre-feasibility study of Pakistan-China rail link". मूल से 2007-09-27 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2007-06-28.
  5. http://www.thaishipper.com/Content/Content.asp?ID=26715
  6. [27]
  7. "Pakistan | PM launches trial phase of Pak-Turkey train service". Dawn.Com. अभिगमन तिथि 2009-08-15.
  8. "Pakistan–Turkey rail trial starts". बीबीसी न्यूज़. 2009-08-14. अभिगमन तिथि 2009-08-16.