पश्च-औद्योगिक समाज

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

समाज विज्ञान के सन्दर्भ में पश्च-औद्योगिक समाज (post-industrial society) समाज के विकास की वह अवस्था है जिसमें सेवा क्षेत्र द्वारा जनित आय निर्माण क्षेत्र द्वारा जनित आय से अधिक होती है।

इन्हेंहे भी देखें[संपादित करें]