पलौंजी मिस्त्री

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
पलौंजी शपूर्जी मिस्त्री
व्यवसाय शपूर्जी पलौंजी समूह के अध्यक्ष
टाटा संस में 18.5% की हिस्सेदारी
कुल मूल्य Green Arrow Up Darker.svg $५.८ अरब (२०१०)[1]
बच्चे 2

पलौंजी शपूर्जी मिस्त्री एक आयरिश-पारसी निर्माण टाइकून है। टाटा संस में 18.5% की हिस्सेदारी के साथ, वह भारत के सबसे बड़े निजी समूह टाटा समूह में अकेले सबसे बड़े शेयरधारक है।

वे शपूर्जी पलौंजी समूह के अध्यक्ष भी है जिसके माध्यम से वह शपूर्जी पलौंजी निर्माण लिमिटेड, फोर्ब्स कपड़ा और यूरेका फोर्ब्स लिमिटेड के मालिक है। वे एसोसिएटेड सीमेंट कंपनी (एसीसी) के पूर्व अध्यक्ष हैं। 2010 में, फोर्ब्स के अनुसार उनकी कुल अनुमानित भाग्य मूल्य 5.8 अरब डॉलर है। [1] 2007 में उन्होने आयरिश नागरिकता को अपनाने के बाद अपनी भारतीय नागरिकता छोड़ दी और दुनिया में शॉन कुइन के पीछे दूसरे सबसे अमीर आयरिश नागरिक है। [2] टाटा समूह में उनके सहयोगियों द्वारा उन्हे "बॉम्बे हाउस का फैंटम" उपनाम दिया गया है। [3] भारत में सबसे सफल व्यवसायियों में से एक होने के बावजूद, उन्हे मीडिया से दूरी के लिए जाना जाता है और वे शायद ही कभी सार्वजनिक रूप से प्रकट होते है।

मिस्त्री की एक छोटी जीवनी मनोज नांबुरु द्वारा 2008 में एक पुस्तक मे लिखी गई थी - " रियल एस्टेट के मोगुल्स "। [4]

निजी जीवन और संपत्ति[संपादित करें]

उनके दो बेटे हैं -शपूर और साइरस और दो बेटियां, लैला और आलू। उनके बेटे शपूर मिस्त्री ने वकील रुसी सेठना की बेटी बेहरोज सेठना से शादी की है। उनके पुत्र साइरस ने वकील इकबाल चागला की बेटी रोहिका चगला से शादी की है। उनकी बेटी लैला ने जहांगीर वजि़फदार और उनकी बेटी आलू ने नोएल टाटा से शादी की है। उनके दामाद नोएल टाटा टाटा समूह की खुदरा इकाई के सीईओ है। नोएल टाटा रतन टाटा के आधे भाई भी है।

उन्होंने मेटलाइफ इंश्योरेंस के नाम से एक जीवन बीमा कंपनी भी शुरू है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

आगे पढ़ने के लिये[संपादित करें]