पराबैंगनी खगोलिकी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
स्पारल गैलेक्सी मेसियर ८१ का GALEX द्वारा पराबैंगनी प्रकाश की सहायता से लिया गया फोटो

पराबैंगनी विकिरण का उपयोग करते हुए खगोलीय पिण्डों का अध्ययन करना पराबैंगनी खगोलिकी (Ultraviolet astronomy) कहलाता है। लगभग १० नैनोमीटर से लेकर ३२० नैनोमीटर तरंगदैर्घ्य वाली विद्युतचुम्बकीय विकिरण पराबैंगनी विकिरण कहलाता है।

पराबैंगनी अन्तरिक्ष दूरदर्शी[संपादित करें]

Astro 2 UIT captures M101 with ultraviolet shown in purple

सन्दर्भ[संपादित करें]