परमाणु अस्त्रों से युक्त देशों की सूची

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दुनिया के परमाणु-हथियार राज्य। ██  परमाणु अप्रसार संधि के अनुसार परमाणु-हथियार राज्य (अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस और चीन) ██  अन्य परमाणु-हथियार राज्य (भारत, उत्तर कोरिया, और पाकिस्तान) ██ अन्य राज्य जो परमाणु हथियार रखने की संभावना है (इज़राइल) ██  नाटो के परमाणु हथियार साझा करने वाले राज्य (बेल्जियम, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड, तुर्की) ██ पूर्व में परमाणु हथियार रखने वाले राज्य (बेलारूस, कजाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, यूक्रेन)

दुनिया में आठ देश हैं जो परमाणु हथियारों को सफलतापूर्वक विस्फोट कर चुके हैं। इन में से पाच देश परमाणु अप्रसार संधि के अंतर्गत परमाणु-हथियार राज्य जाने जाते है; जो है अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस, और चीन। परमाणु अप्रसार संधि मे शामील न होने वाले तीन देश जिन्होंने सफलतापूर्वक परमाणु विस्फोट किया है वो है; भारत, उत्तर कोरिया, और पाकिस्तान। उत्तरी कोरिया पहले परमाणु अप्रसार संधि मे शामिल था लेकिन २००३ में वे हट गए। इज़राइल के पास भी परमाणु हथियार होने की व्यापक संभावना जताई जाती है, हालांकि यह इसके बारे में जानबूझकर अस्पष्टता की नीति बनाए रखता है और यह स्वीकार नहीं करता है। और इज़राइल किसी प्रकार के परमाणु परीक्षण आयोजित करने के लिए निश्चित रूप से ज्ञात नहीं है।[1][2]

सांख्यिकी[संपादित करें]

देशोंके अनुमानित कुल परमाणु हथियार भंडार। [3]
देश परमाणु हथियार
रुस
7,000
अमेरिका
6,800
फ्रांस
300
भारत
270
ब्रिटेन
215
पाकिस्तान
140
चीन
200
इज़राइल
80
देश हथियार
(तैनात/कुल) [3]
प्रथम परीक्षण की तिथि
परमाणु अप्रसार संधि देश
अमेरिका १,८०० / ६,८०० १६ जुलाई १९४५
रुस १,९५० / ७,००० २९ अगस्त १९४९
ब्रिटेन १२० / २१५ ३ अक्टूबर १९५२
फ्रांस २८० / ३०० १३ फ़रवरी १९६०
चीन ? / २७० १६ अक्टूबर १९६४
अन्य देश
भारत ० / ११०-१२० १८ मई १९७४
(मुस्कुराते बुद्ध)
पाकिस्तान ० / १२०-१३० २८ मई १९९८
उत्तर कोरिया ० / ? ९ अक्टूबर २००६
अघोषित परमाणु देश
इज़राइल ० / ८० १९६० - १९७९

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Calls for Olmert to resign after nuclear gaffe". द गार्डियन. १२ दिसंबर २००६. अभिगमन तिथि ११ अक्टूबर २०१७.
  2. "The Nuclear Club: Who are the 9 members?". यूएसए टुडे. ६ जनवरी २०१६. अभिगमन तिथि ११ अक्टूबर २०१७.
  3. "Status of World Nuclear Forces". Federation of American Scientists. २०१७. अभिगमन तिथि ११ अक्टूबर २०१७.