परपीड़न-रति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

परपीड़न-रति (sadism) उस मानसिक स्थिति को कहते हैं जिसमें दूसरों की अत्यधिक पीड़ा, पीड़ा या अपमान देकर व्यक्ति यौन उत्तेजना का अनुभव करता है। परपीड़न-रति, सामान्य रति से इस मामले में अलग है कि सहमति वाली रति में व्यक्ति यौन उत्तेजना के लिए हल्के या उद्दीप्त दर्द या अपमान का उपयोग करते हैं, न कि अध्यधिक पीड़ा या अत्यधिक अपमान देकर।

सन्दर्भ[संपादित करें]