पन्हाला दुर्ग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
पन्हाला दुर्ग
पन्हाला ,महाराष्ट्र ,भारत
Teen darwaza panhala.jpg
तीन दरवाज़ा का आंतरिक प्रवेशद्वार
प्रकार पहाड़ी दुर्ग
निर्माण ११७८से १४८९
निर्माण कर्ता भोज द्वितीय ,आदिल शाह
निर्माण सामग्री पत्थर ,लीड
ऊंचाई 845 मी॰ (2,772 फीट) ASL
प्रयोग में ११७८–१९४७
वर्तमान स्वामित्व भारत सरकार
जनता के लिये खुला
हां
अधिकृत है भोज द्वितीय ,बीजापुर सल्तनत , मराठा ,मुग़ल ,ईस्ट इण्डिया कम्पनी
उपयोगकर्ता सम्भाजी ,रामचन्द्र पंत अमात्य
युद्ध पवन खिण्ड वंश

पन्हाला दुर्ग जो कि इन नामों से (पन्हालगढ़ ,पनाला ,पहाला) भी जाना जाता है। जो भारतीय राज्य महाराष्ट्र के कोल्हापुर ज़िले से दक्षिण पूर्व से २० किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

पन्हाला दुर्ग में मयूर

पन्हाला दुर्ग का निर्माण ११७८ में किया था इनके साथ १५ और दुर्गों का निर्माण भी किया था। .[1]

पन्हाला दुर्ग में बाजी प्रभु देशपांडे की मूर्ति
पन्हाला दुर्ग में शिवा काशिद की मूर्ति

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Gazetteer of the Bombay Presidency. Bombay, India: Govt Central Press. 1866. पपृ॰ 314–315. अभिगमन तिथि २४ दिसम्बर २०१५.