पथ्याहार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
डाएट कोक

पथ्याहार (या परहेज़ी भोजन) उस भोजन या पेय को संदर्भित करता है जिसे शरीरोपयोगी संशोधित आहार बनाने के लिए कुछ परिवर्तित कर दिया जाता है। हालांकि सामान्यतया इसका उद्देश्य वजन घटाना या शरीर के गठन में परिवर्तन लाना है और कभी-कभी इसका उद्देश्य वजन बढ़ाने अथवा शरीर-सौष्ठव के पूरक के रूप में मांसपेशियों में वृद्धि लाने में सहायता करना भी है।

शब्दावली[संपादित करें]

इन आहारों की पहचान और उनके विषद विवरण के लिए पथ्याहार के अतिरिक्त अन्य शब्द अथवा वाक्यांश हैं, जिनमे हलके -फुल्के आहार, बिना चर्बी का आहार, कैलोरी रहित, कम कैलोरी, कम वसा, वसाहीन, वसा-मुक्त, शर्करा -रहित, शर्करा-मुक्त एवं शून्य कैलोरी, के प्रयोग होते हैं। कुछ क्षेत्रों में इन शब्दों के उपयोग कानून द्वारा विनियमित किये जा सकते हैं। उदाहरण के लिए अमेरिका में कम वसा से अंकित या चिह्नित किसी उत्पाद के प्रत्येक परोस में 3 ग्राम से अधिक वसा शामिल नहीं होनी चाहिए और वसा मुक्त अंकित उत्पाद के प्रत्येक परोस में 0.5 ग्राम से कम वसा होनी चाहिए.[1]

प्रसंस्करण (संसाधन)[संपादित करें]

किसी आहार को पथ्याहार में प्रसंस्कृत करने की प्रक्रिया में आम तौर पर एक उच्च कैलोरी घटक के लिए एक स्वीकार्य कुछ कम कैलोरी विकल्प खोजने की आवश्यकता होती है। यह उतनी ही सरल है जितनी कि आहार में निहित सम्पूर्ण शर्करा के बदले शर्करा के विकल्प का प्रयोग कर कर सकते हैं जैसा कि आम तौर पर अल्कोहल रहित पेय कोका कोला की जगह (उदाहरण के लिए कोक आहार (डायेट कोक)) का प्रयोग किया जाता है। कुछ नमकनॉ में, खाद्य पदार्थों को तलने की बजाय सेंक कर पकाया जा सकता है जिससे कि इस प्रकार कैलोरी की मात्रा कम की जा सके. अन्य मामलों में, कम वसा वाली सामग्री प्रतिस्थापन के रूप में इस्तेमाल की जा सकती है।

गोटे साबूत खाद्यान्नों में, उच्च रेशेदार (फाइबर) अवयव की उपस्थिति असरदार तरीके से आटे के कुछ.स्टार्च घटक को हटा देती है। चूंकि कुछ-कुछ रेशों (फाइबर) में कोई कैलोरी नहीं होती है, जिसके फलस्वरूप कैलोरी की मात्रा घटकर मामूली रह जाती है। उद्देश्यपरक अतिरिक्त अन्य कम कैलोरी के अवयवों के लिए एक और तकनीक पर निर्भर किया जाता है, जैसे कि आटा के कुछ भाग को हटाने के लिए प्रतिरोधी स्टार्च या रेशेदार पथ्याहार का प्रयोग और कैलोरी में उल्लेखनीय कमी प्राप्त कर लेना निर्भर पर जानबूझकर के रूप में फाइबर का हिस्सा बदलने के लिए, करने के लिए महत्वपूर्ण और ने के लिए एक और अधिक.[2]

विवाद[संपादित करें]

पथ्याहारों में[3] जिसमे कम कैलोरी वाले विकल्पों से शर्करा को हटा देते हैं, इसमें इस संभावना को लेकर विवाद है कि शर्करा की जगह शर्करा के विकल्प का इस्तेमाल अपने आप में हानिकारक है। भले ही इस सवाल का संतोषजनक हल हो गया है (जिसकी इस वक्त भी कोइ संभावना नहीं[4]), सवाल अब भी बना हुआ है कि कहीं कैलोरी में घटाव के लाभ की तुलना में संभावित हानि तो अधिक नहीं होगी.

कई अल्प वसा और वसा रहित खाद्य पदार्थों में वसा की जगह शर्करा, आटा, या अन्य कैलोरी से भरपूर सामग्रियों का प्रयोग किया जाता है और कैलोरी के गिरावट के मूल्य में मामूली कमी आती है, अगर आती भी है तो.[5] इसके अलावा, जरूरत से ज्यादा सुपाच्य शर्करा (साथ ही साथ किसी भी पौष्टिक पदार्थ की प्रचुरता) अतिरिक्त वसा के रूप में संचयित होता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • अल्पाहार
  • कैलोरी प्रतिबंधित आहार
  • अल्प- कार्बोहाइड्रेट आहार
  • अल्प जीआई (GI) आहार
  • ओलेस्ट्रा
  • ऑनलाइन वजन कम करने की योजनाएं

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. पोषक तत्व दावा की परिभाषा Archived 2013-03-07 at the Wayback Machine, अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन
  2. "प्रतिरोधी कलफ प्रतिस्थापन प्रणाली". मूल से 10 जुलाई 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 अप्रैल 2011.
  3. आहार और अच्छा खाना Archived 2011-04-08 at the Wayback Machine, राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा
  4. "Home". Dietpedia. मूल से 9 जुलाई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 अप्रैल 2020.
  5. चर्बी मुक्त बनाम नियमित कैलरी की तुलना Archived 2007-06-17 at the Wayback Machine, अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन