नो एन्ट्री (२००५ फिल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(नो एन्ट्री (2005 फ़िल्म) से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
नो एन्ट्री
नो एन्ट्री.jpg
नो एन्ट्री का पोस्टर
अभिनेता अनिल कपूर,
सलमान ख़ान,
फ़रदीन ख़ान,
लारा दत्ता,
बिपाशा बसु,
ईशा देओल,
बोमन ईरानी,
सेलीना जेटली,
समीरा रेड्डी
संगीतकार अनु मलिक
प्रदर्शन तिथि(याँ) २६ अगस्त, २००५
देश भारत
भाषा हिन्दी

नो एन्ट्री २००५ में बनी हिन्दी भाषा का एक हास्य चलचित्र है। इसके निर्देशक अनीस बाज्मी और निर्माता बोनी कपूर हैं। इसमें मुख्य भुमिका में हैं - सलमान खान, अनिल कपूर, फ़रदीन खान, लारा दत्ता, सेलिना जेठली, ईशा देओल और बिपाशा बसु। समीरा रेड्डी विशेष भूमिका में हैं। यह चलचित्र को एक तमिल चलचित्र चार्ली चैपलिन पर आधारित है।

संक्षेप[संपादित करें]

किशन (अनिल कपूर) एक अमीर समाचार संपादक होता है, जो अपनी पत्नी काजल (लारा दत्ता) से बहुत प्यार करते रहता है और उसे धोखा देने के बारे में सोच भी नहीं सकता है। हालांकि उसकी पत्नी को हमेशा ये डर लगा रहता है कि उसके पति का किसी और औरत के साथ चक्कर तो नहीं चल रहा है। इस कारण वो अपने पति पर जरूरत से भी ज्यादा शक करते रहती है।

प्रेम (सलमान खान किशन का दोस्त है और उसका हाल किशन से बिलकुल अलग है। उसकी पत्नी, पूजा (ईशा देओल) उस पर आँख मूँद कर विश्वास करते रहती है और उसकी कही हर बात को सच मानते रहती है, लेकिन वो उसे ही झूठ के अलावा कभी कुछ नहीं कहता है और कई लड़कियों के साथ चक्कर चलाते रहता है।

शेखर (फ़रदीन ख़ान) किशन के समाचार कंपनी में काम करता है और किशन के एहसानों के बीच पूरी तरह दबा हुआ है। इस कारण वो किशन को अपने बड़ा भाई मानता है और उसके लिए कुछ भी करने को तैयार रहता है। किशन भी उसे अपने छोटे भाई के रूप में मानता है। उसके साथ कुछ घटनाएँ ऐसी होती है कि उसे और संजना (सेलिना जेटली) को एक दूसरे से प्यार हो जाता है।

इन सभी के जीवन में नया मोड़ तब आता है, जब शेखर अपने कैमरे में प्रेम की उसकी कुछ प्रेमिकाओं के साथ फोटो ले लेता है और किशन उस फोटो को उसकी पत्नी को दिखाने की धमकी देता है। किसी तरह प्रेम उस कैमरे को उनसे दूर करने में सफल हो जाता है, पर वो इन सब से बचने के लिए बॉबी (बिपाशा बसु) को पैसे देकर किशन को पटाने का काम देता है। प्रेम किसी तरह किशन को बॉबी से मिलने के लिए तैयार करा लेता है। किशन को पता चलता है कि उसकी बीवी अजमेर जाने वाली है तो वो घर पर ही बॉबी से मिलने का प्लान बना लेता है।

काजल के घर से निकलने के बाद योजना के अनुसार बॉबी उसके घर आ जाती है, वे दोनों आउट हाउस (जहाँ शेखर रहता है) में चले जाते हैं। उसकी बीवी अपना पासपोर्ट घर पर ही भूल जाती है और जब वो उसे लेने वापस आती है तो अपने पति के साथ बॉबी को देख कर शक करने लगती है। इस शक से बचने के लिए किशन बोल देता है कि बॉबी असल में शेखर की पत्नी है। किशन के एहसानों से दबा हुआ शेखर उसके झूठ में साथ देने को मजबूर हो जाता है। वहीं शेखर अपनी और संजना की शादी की बात करने के लिए अपने बड़े भाई के रूप में किशन को ले चलता है, इस दौरान बॉबी के आ जाने के कारण संजना और उसके परिवार वालों के सामने किशन उसे अपनी पत्नी बता देता है।

शेखर और संजना की शादी तय हो जाती है। शादी के दिन काजल भी आती है और किशन को पता चलता है कि काजल और संजना दोस्त हैं। किसी तरह बीमारी का नाटक कर किशन उस जगह से बच जाता है और शेखर के साथ संजना की शादी भी हो जाती है। शादी के बाद शेखर और संजना जिस होटल में हनीमून मनाने रुकते हैं, उसी होटल में किशन और काजल भी रुकने आ जाते हैं। परेशानी और भी बढ़ जाती है, जब बॉबी भी उसी होटल में रुकने आ जाती है। जब वे सब लोग एक साथ मिलते हैं तो किशन और शेखर का सारा झूठ सामने आ जाता है। संजना और काजल अपने अपने पति से तलाक लेने का फैसला करती हैं।

उनकी शादी को बचाने के लिए प्रेम आता है और कह देता है कि बॉबी उसकी दूसरी पत्नी है। ये बात उसकी पत्नी पूजा भी सुन लेती है और इस तरह तीनों का एक जैसा हाल हो जाता है। प्रेम पहाड़ से कूद कर अपनी जान देने का नाटक करते रहता है, पर उसे रोकने की कोशिश करते हुए शेखर और उन दोनों को बचाने की कोशिश में किशन भी पहाड़ में लटक जाते हैं और गिरने की कगार पर आ जाते हैं। पूजा, काजल और संजना उन्हें गिरने से बचाने के लिए रस्सी देती हैं, लेकिन प्रेम पहले माफ करने को कहता है। उन सभी के माफ करने के बाद वे लोग रस्सी से ऊपर आ जाते हैं और कभी ऐसी गलती दुबारा न करने का फैसला करते हैं।

अंत में दिखाया जाता है कि वे तीनों सुधरने का नाटक कर रहे हैं।

चरित्र[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

इस चलचित्र के संगीतकार थे, अनु मलिक

बौक्स ऑफिस[संपादित करें]

यह चलचित्र बहुत पसंद किया गया और ये २००५ का सबसे सफ़ल चलचित्र था। भारत में ही इसकी कुल कमाई ४४,८४,००,००० रू थी।

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]