नैशनल लाइब्रेरी ऍट कोलकाता रोमनाइजेशन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

राष्ट्रीय पुस्तकालय, कोलकाता-रोमनीकरण भारतीय भाषाओं के शब्दकोषों तथा व्याकरण में सर्वाधिक प्रयुक्त होने वाली लिप्यन्तरण स्कीम (देखें "देवनागरी लिप्यन्तरण") है। इस लिप्यन्तरण स्कीम को लाइब्रेरी ऑफ काँग्रेस के नाम से भी जाना जाता है तथा यह लगभग ISO 15919 के सम्भावित वैरियेंटों जैसी ही है। नीचे दी गयी सारणियाँ अधिकतर देवनागरी का प्रयोग करती हैं पर कुछ अक्षर कन्नड़, तमिल, मलयालम तथा बंगाली भाषाओं से भी हैं जिनका प्रयोग गैर-देवनागरी वर्णों के लिप्यन्तरण में किया जाता है। यह स्कीम IAST स्कीम का ही विस्तार है जो कि संस्कृत के लिप्यन्तरण के लिये प्रयोग की जाती है।

अं अः
a ā i ī u ū e ē ai o ō au aṃ aḥ
ka kha ga gha ṅa ca cha ja jha ña
ṭa ṭha ḍa ḍha ṇa ta tha da dha na
pa pha ba bha ma ẏa ḻa ḷa ṟa ṉa
ya ra la va śa ṣa sa ha ll


साहित्य[संपादित करें]

  • अग्रवाल, नरिन्द्र के॰ १९८५ (१९७८). A Bibliography of Studies on Hindi Language and Linguistics. 2nd edition. इण्डियन डॉक्यूमेंटेशन सर्विस / अकादमिक प्रैस: गुड़गाँव, भारत

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  • Typing a macron – ऍक्सेंट के साथ टाइप करने के बारे में पेन्न स्टेट विश्वविद्यालय का पेज