नील चन्द्र (ब्लू मून)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

नील चन्द्र या ब्लू मून (अङ्ग्रेज़ी: Blue moon) पूर्णिमा के दिन घटित होने वाली एक घटना है। या तो एक ऋतु की चार पूर्णिमाओं में से तीसरी या फिर कलेंडर के अनुसार एक महीने की दूसरी पूर्णिमा की रात को प्रकट होने वाला चंद्रमा ब्लू मून होता है अर्थात यदि कलेंडर में एक महीने में दो पूर्णिमाएँ हों तो दूसरी पूर्णिमा के चंद्रमा को ब्लू मून कहते हैं। शब्द नील चन्द्र (ब्लू मून) का संबंध चंद्रमा के वास्तविक रंग से नहीं है। ब्लू मून लाल, नारंगी या पीले या सफेेेद रंग का हो सकता है।

दिसंबर 2009 के चंद्रग्रहण का नील चन्द्र

परिभाषा[संपादित करें]

ब्लू मून की पूर्णिमा को परंपरागत रूप से "अतिरिक्त पूर्णिमा" कहा जाता है, जब एक वर्ष में आमतौर पर 12 की बजाय 13 पूर्णिमाएँ होती हैं। ब्लू मून की घटना प्रत्येक 2 या 3 साल में (मेटोनिक चक्र के हर 19 सालों में 7 बार) होती है।

ब्लू मून का कारण[संपादित करें]

एक चंद्रमास की अवधि 29.53 दिन होती है। एक वर्ष में लगभग 365.24 दिन होते हैं। इसलिए, एक वर्ष में लगभग 12.37 चंद्रमास (365.24 दिनों को 29.53 दिन से विभाजित करने पर) होते हैं। व्यापक रूप से इस्तेमाल किए जाने वाले ग्रेगोरीयन कैलेंडर में, एक वर्ष में 12 महीने और आम तौर पर हर महीने एक पूर्णिमा होती है।अतः प्रत्येक कैलेंडर वर्ष में 12 पूर्ण चंद्रमासों के अतिरिक्त भी लगभग 11 दिन अधिक होते हैं। हर वर्ष इन अतिरिक्त 11 दिनों को जमा करने पर, हर दो या तीन वर्षों में एक अतिरिक्त पूर्णिमा होती है।अतिरिक्त पूर्णिमा, अनिवार्य रूप से चार मौसमों में से एक में होती है, उस मौसम में सामान्य रूप से 3 के बजाय 4 पूर्णिमाएँ होती हैं, और इसलिए, एक नील चन्द्र भी होता है।

2009 से 2021 के बीच के ब्लू मून[संपादित करें]

ग्रेगोरीयन कैलेंडर के अनुसार 'ब्लू मून'[संपादित करें]

एक महीने में दो पूर्णिमाएँ (दूसरी पूर्णिमा 'ब्लू मून' की है):
वर्ष तिथियाँ
2009 2 और 31 दिसंबर
2010 1 और 30 जनवरी,

1 और 30 मार्च

2012 2 और 31 अगस्त,

1 और 30 सितंबर

2015 2 और 31 जुलाई
2018 2 और 31 जनवरी,

2 और 31 मार्च

2020 1 और 31 अक्तूबर