निरंकारदेवता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

निरंकार देवता गढ़वाल और कुमाऊँ में कई जातियों के कुल देवता हैं। इनकी कोई प्रतिमा नहीं है। ये देवाधिदेव महादेव के अवतार माने जाते हैं। महाप्रलय के दौरान महाकाली का अवतरण हुआ था। उसके बाद निरंकारदेव अवतरित हुए । इनका अवतरण आज से 34579 वर्ष पूर्व हुआ था। ऐसा माना जाता है कि जब महाप्रलय हुई, यह तिथि भले ही प्रमाणिक न हो लेकिन यदि कभी इस पर शोध हुआ तो इसमें ज्यादा अंतर नही आयेगा।

सन्दर्भ[संपादित करें]