निकोलाओ मानुची

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बिब्लोतिक़ नाशियोनाले दे फ्रांस में लिकोलाओ मानुची का एक चित्र

निकोलाओ मानुची (इतालवी: Niccolò Manucci, 1639-1717) एक इतालवी लेखक और यात्री था। उसने मुग़ल दरबार में काम किया। इसके अतिरिक्त उसने दारा शूकोह, शाह आलम, राजा जयसिंह और कीरत सिंह की सेवा में काम किया।

परिचय[संपादित करें]

निकोलायो मानुकसी का जन्म 19 अप्रैल 1638 को वेनिस में हुआ था। यह पाँच बहन-भाइयों में से पहला था। वह चौदह साल की छोटी उम्र में था जब वह अपने एक चाचे के साथ कोर्फ़ू चला गया। और फिर एक जहाज़ में छिप कर इज़मिर के लिए रवाना हो गया। सफ़र के दौरान हेनरी बारड, बेलोमोण्ट के विसकाउण्ट के साथ उसकी मुलाकात हो गई। उसके साथ वह ईरान आ पहुँचा और फिर वहाँ से आगे वह सूरत, हिन्दुस्तान पहुँच गया।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]