निकाह हलाला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

इस्लाम में औरत को तीन तलाक़ देने के बाद दोबारा उसी औरत से विवाह करने की प्रक्रिया को निकाह हलाला कहते हैं। यह विवाह (निकाह) मुख्य रूप से सुन्नी मुसलमानों के कुछ संप्रदायों द्वारा किया जाता है क्योंकि शरिया के मुताबिक अगर किसी पुरुष ने औरत को तीन तलाक दे दिया है तो उस पुरुष ने उस औरत का अपमान किया है, इस लिए अब वह पुरुष उस औरत से दोबारा तब तक शादी नहीं कर सकता जब तक वह औरत किसी दूसरे पुरुष से शादी कर तलाक न ले ले, दूसरे पति को तलाक देने पर मजबूर नहीं किया जा सकता, अगर वह तलाक देना न चाहे तो यह दोनों पति-पत्नी के रिश्ते के साथ जीवन बिताएंगे। अतः निकाह हलाला के लिए, तलाकशुदा महिला किसी दूसरे पुरुष से शादी कर लेती है, उस पुरुष के साथ विवाह की संसिद्धि करती है और तलाक लेती है ताकि उसे अपने पहले पति से पुनर्विवाह करना उचित हो सके।[1] निकाह हलाला एक प्रक्रिया है जिसके हिसाब से अगर आपने अपनी पत्नी को तीन बार तीन तलाक दे दिया तो आप उससे तब तक दोबारा विवाह नहीं कर सकते जब तक वो एक बार फिर किसी और से शादी न कर ले।[2] साथ ही वह अपने दूसरे पति के साथ शारीरिक संबंध भी बनाए।[3]

और जब तुम अपनी पत्नियों को तलाक देते हो और उन्होने इद्दाह पूरा कर लिया है तो उनको अपने पतियों से विवाह करने से मत रोको यदि वे दोनों (पति-पत्नी) वैध तरीके से विवाह करने का निर्णय लेते हैं। इस कानून से वह (अल्लाह) उनको राह दिखाता है जो अल्लाह पर इमान रखने वाले हैं , और इसके बाद वह तुम्हारे लिए अधिक पवित्र है और तुम्हारा उस पर ज्यादा अधिकार है। क्योंकि अल्लाह जानता है और तुम अज्ञानी हो। (अल-कुराअन 2:232)

अप्रैल २०१७ में बीबीसी के एक समाचार लेख ने खुलासा किया कि यूनाइटेड किंगडम (यूनाइटेड किंगडम) मे निकाह हलाला के नाम पर कई ऑनलाइन सेवाएं उपलब्ध हैं जो महिलाओं का सामाजिक और यौन शोषण करते हैं। ये सेवाएं किसी महिला को पैसे के बदले में एक आदमी प्रदान करते हैं जो उससे निकाह करे, शारीरिक संबंध बनए और तलाक दे दे।[4]

भारत का सर्वोच्च न्यायालय 20 जुलाई 2018 से मुसलमानों में निकाह हलाला और बहुविवाह के खिलाफ याचिका सुनेंगे।[5][6][7]

निकाह हलाला के बहुत से विकृत और विचित्र मामले सामने आ रहे हैं।[8][9]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. अविनाश द्विवेदी (२२ अगस्त २०१७). "तीन तलाक के साथ जानिए क्या है 'हलाला', 'हुल्ला' और 'खुला'?". अभिगमन तिथि २३ अगस्त २०१७.
  2. "https://www.patrika.com/lucknow-news/know-about-talaq-khula-aur-halala-nikah-pratha-meaning-in-hindi-1575400/". |title= में बाहरी कड़ी (मदद)
  3. "मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने किया हलाला का समर्थन, बताया 'कुरान सम्मत'".
  4. अतार अहमद (५ अप्रैल २०१७). "The women who sleep with a stranger to save their marriage". बीबीसी. अभिगमन तिथि २४ अगस्त २०१७.
  5. "Supreme Court To Begin Nikah Halala and Polygamy Hearing From July 20".
  6. "Before SC hearing, Modi govt builds case against Nikah Halala, polygamy".
  7. "AIMPLB against outlawing of 'nikah halala', but wants it to be discouraged".
  8. हलाला: पति के साथ रहने के लिए ससुर के बाद अब देवर से शादी करने का दबाव
  9. ससुर से हलाला के बाद माँ बनी महिला

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]