ना आना इस देश लाडो

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ना आना इस देश लाडो
शैली पारिवारिक
नाट्य
निर्देशक अंशुमान महादेव सिंह
दिनेश महादेव
इन्दर दास
निर्माण का देश भारत
भाषा(एं) हिंदी
सत्र संख्या 1
प्रकरणों की संख्या 870
निर्माण
निर्माता श्यामशीश भट्टाचार्य
स्थल वीरपुर
कैमरा सेटअप बहु-कैमरा
प्रसारण अवधि 20 मिनट
निर्माण कंपनी शाकुन्तलम् टेलीफिल्म्स
प्रसारण
मूल चैनल राज टीवी
छवि प्रारूप 720i (SDTV)
1080i (HDTV)
मूल प्रसारण 9 मार्च 2009 (2009-03-09) – 27 जुलाई 2012 (2012-07-27)

ना आना इस देश लाडो एक हिंदी धारावाहिक है। यह धारावाहिक सबसे पहले कलर्स पर प्रसारित हुआ था, जिसके बाद यह धारावाहिक राज टीवी पर प्रसारित हुआ। इस धारावाहिक को तमिल नाडु में बहुत पसन्द किया गया। इसके हर अभिनेताओं के अभिनय को सराहा गया। सन् 2017 में इसने कलर्स पर अपने सीजन 2 लाडो - वीरपुर की मर्दानी के साथ टेलीविजन पर वापसी की पर सन् 2018 में यह शो बन्द हो गया।

पठ कथा[संपादित करें]

इसकी कथा बेटी बचाओ अभियान से संबंधित है। जिसमे अम्माजी (मेघना मलिक) का अभिनय जबरदस्त है। धारावाहिक में ये दर्शाया जाता है की वीरपुर में बेटियों की जन्म के बाद ही हत्या कर दी जाती है, इसलिये वहां कोई बेटी नहीं है। फिर एक लड़की आती है और बेटी हत्या के इस मुद्दे का जम कर विरोध करती है, और लोगों की घटिया सोच को बदल देती है।